नई दिल्ली. 5 बार की विश्व चैम्पियन एमसी मैरीकॉम की रियो ओलम्पिक में खेलने की उम्मीदें अभी बरकरार है. भारत में मुक्केबाजी का संचालन कर रही तदर्थ समिति ने मैरीकॉम के लिए वाइल्ड कार्ड मांगने का फैसला किया है. मैरीकॉम क्वालीफायर के जरिये ओलंपिक में प्रवेश करने में असफल रही थी. जिसके बाद उनका रियो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने का सपना टूटता दिख रहा था.
 
बता दें कि मेरीकॉम (51 किलो) पिछले महीने विश्व चैम्पियनशिप के दूसरे दौर से बाहर हो गई थी. ये महिला मुक्केबाजों के लिये ओलम्पिक में प्रवेश करने का दूसरा और आखिरी क्वालीफाइंग टूर्नामेंट था. अगर मैरीकोम इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंच जाती तो उन्हें आसानी से रियो का टिकट मिल जाता. 
 
तदर्थ समिति के अध्यक्ष किशन नरसी ने बताया कि वह शानदार खिलाड़ी है और उसका योगदान अतुल्य है. हमने उसके लिये वाइल्ड कार्ड मांगने का फैसला किया है. एआईबीए को कई आवेदन मिलेंगे जिन पर गौर करने के बाद वह फैसला लेगा. 
 
मैरीकॉम पांच बार की विश्व चैम्पियन और लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता हैं. मैरीकॉम ने इस बारे में पूछने पर कहा कि देखते हैं क्या होता है. वाइल्ड कार्ड ओलंपिक में भाग लेने वाले देशों की राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों को दिये जाते हैं. महिला मुक्केबाजी में तीन ओलंपिक वर्गों 51 किलो, 60 किलो और 73 किलो में एक ही वाइल्ड कार्ड उपलब्ध है.
 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App