नई दिल्ली. दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज हाशिम अमला और एबी डिविलियर्स की मैराथन पारियों के बावजूद रविचंद्रन अश्विन और उमेश यादव की बेहतरीन गेंदबाजी के बल पर भारत ने दिल्ली टेस्ट 337 रन से जीत लिया है. दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में अश्विन ने 5, उमेश ने 3 और जडेजा ने 2 विकेट लिए. सीरीज 3-0 से जीतने के बाद अब भारत वर्ल्ड टेस्ट रैंकिंग में दूसरे स्थान पर आ गया है.
 
कोटला टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाने का कारनामा करने वाले अजिंक्य रहाणे को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया है. जबकि चार मैचों की इस सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले ऑफ स्पिनर आर.अश्विन को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया है.
 
इससे पहले हाशिम अमला ने मैच बचाने के लिए सधी हुई बल्लेबाजी की कोशिश की, लेकिन रवींद्र जडेजा की खूबसूरत गेंद पर चकमा खा गए और उनकी गिल्लियां बिखर गईं. अमला ने दूसरी पारी में 244 गेंदों में मात्र 25 रन बनाए. वहीं डिविलियर्स ने 297 गेंदों में 43 रन बनाए.
इसके बाद जडेजा ने टिक कर खेल रहे फॉफ डु प्लेसिस को 10 रन के निजी स्कोर पर चलता कर दिया. डु प्लेसिस ने अपनी पारी में 97 गेंदों का सामना किया. डु प्लेसिस के आउट होने पर बैटिंग करने आए जेपी डुमिनी 12 गेंद खेलकर बिना खाता खोले ही अश्विन का शिकार हो गए.
 
डुमिनी के आउट होने के बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम की संघर्ष डिव‍िलियर्स के इर्द-गिर्द ही केंद्रित रह गया था और विकेट की ‘खुराक’ मिलने के बाद टीम इंडिया की उम्‍मीदें परवान चढ़ने लगी थीं. सातवें विकेट के रूप में एबी डिविलियर्स के अश्विन का शिकार बनते ही मेहमान टीम के संघर्ष ने दम तोड़ दिया. पारी के 140वें ओवर में डिविलियर्स आउट हुए और देखते ही देखते 143.1 ओवर में पूरी दक्षिण अफ्रीकी टीम पेवेलियन लौट गई. टीम के खाते में आलआउट होने तक कुल 143 रन की जमा हो पाए थे.