नई दिल्ली: राम रहीम ने धर्म के नाम पर इतना अधर्म किया कि कोई सोच भी नहीं सकता. भोग-विलास की जितनी सुविधाएं होनी चाहिए वो सब राम रहीम के पास थी. दिन में सत्संग करने वाला बाबा रात में पार्टी करता था. दूसरों को सांसारिक मोह त्यागने की बात कहने वाला खुद विलासिता भरा जीवन जीता था. जहां का कानून भी वही बनाता था और उसे तोड़ने वाला भी वही था.चौबीसों घंटे राम रहीम अय्याशी में डूबा रहता था और उसकी अय्याशी देर रात तक तक चलती थी. खुलासा हुआ है कि राम रहीम देर रात तक इसलिए जागता रहता था ताकि पार्टी का आयोजन कर सके. बलात्कारी बाबा की इस पार्टी की रौनक ठीक वैसी ही होती थी, जैसी किसी शादी-ब्याह के समारोह में होती है. यहां डीजे की धुन होती थी और उस धुन पर नाचने वाली भी लड़कियां भी होती थीं.
 
यही है वो जगह, जो राम रहीम का नाइट क्लब है. यहीं पर राम रहीम लड़कियों को डांस करने पर मजबूर करता था और फिर डांस की इस महफिल में जो होता. वो उन लड़कियों के पैरों तले हिला देने वाला था. राम रहीम के पूर्व सेवादार और इस मकान का एक-एक कोना जानने वाले हंसराज चौहान का कहना है कि राम रहीम जब रंगीन मूड होता था, तो पार्टी का आयोजन करता था. इस पार्टी में उसकी पसंद की लड़कियां होती थीं, किसे डांस करना है और किसे रात के 2 बजे तक वहां रुकना है. सब बलात्कारी बाबा राम रहीम ही तय करता था. गुफा के बाहर खड़े पुरुष पहरेदारों को सिर्फ आवाज ही सुनाई देती थी. रात के एक बजे तक किस तरह डीजे की आवाज राम रहीम की गुफा से आती रहती थी.
 
मतलब पार्टी तो राम रहीम के लिए बहाना था. वो इसके जरिए अपनी हवस मिटाया करता था और इसीलिए पहले साधुओ को गुफा से बाहर निकालने के बाद लड़कियों से जोर-जबर्दस्ती करता. जब पार्टी होती थी. तब राम रहीम समोसे बांटता था और जब पार्टी खत्म होने के बाद लड़कियों को प्रसाद बांटता. प्रसाद का मतलब साध्वी के बलात्कार से है. राम रहीम किस तरह देर रात तक पार्टी करता रहता था. इसका खुलासा इस मामले की जांच कर रहे पूर्व सीबीआई अधिकारी ने भी किया है. एक अखबार ने छापा है कि सीबीआई टीम के मुखिया एम नारायणन ने डेरा की गुफा में होने वाली पार्टी का जिक्र किया है. इसके अलावा किस तरह बाबा रात 10 बजे लड़कियों को वहां बुलाता था. वो हैरान करने वाला है. एम नारायणन का बयान है.
 
डेरा की गुफा के भीतर जाना अपने आप में बहुत बड़ी चुनौती थी. सीबीआई टीम जिसकी मैं अगुवाई कर रहा था, उसे राम रहीम के गुंडे धमकी देते थे. हमें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. राम रहीम किसी मध्यकालीन राजा की तरह डेरा में रहता था, जहां तमाम खूबसूरत औरतें और साध्वी रहती थीं. हर रात को 10 बजे साध्वियों की मुखिया के पास एक फोन जाता था और उससे एक साध्वी को राम रहीम के बेडरूम में भेजने को कहा जाता था, जिसके साथ राम रहीम जबरन सोता था. मतलब साफ है कि राम रहीम ने डेरा की इस गुफा को ही नाइट क्लब बना रखा था और कानून भी उसी के चलते थे. कई शहरों में रात 10 बजे के बाद डीजे बजाना नियमों के खिलाफ है. लेकिन राम रहीम ने अपने इस नाइट क्लब के लिए इस नियम को वैध बना रखा था. दावा है कि राम रहीम इस मकान के प्रांगण में सत्संग करता था और यहां एक गुफा भी है, जहां वो लड़कियों से डांस कराता था और फिर उनका बलात्कार करता था. जिस साध्वी की चिट्ठी पर राम रहीम जेल की सलाखों के पहुंचा. उसने भी राम रहीम की गुफा का जिक्र अपनी चिट्ठी में किया था.
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App