नई दिल्ली: दो साध्वियों से बलात्कार का मुजरिम गुरमीत राम रहीम खुद को संत कहता था लेकिन असल में वो धर्म की आड़ में कुकर्म का कारोबार कर रहा था. ये स्वयंभू संत धर्म का चोला ओढ़ कर खुद अय्याशी करने के साथ-साथ विलासिता का कारोबार भी कर रहा था. हरियाणा के सिरसा जिले में सैकड़ों एकड़ में फैले जिस आश्रम को दुनिया डेरा सच्चा सौदा का मुख्यालय मानती थी. असल में उसके अंदर कुकर्म की कमाई से ऐशो-आराम की इमारतें खड़ी की गई थीं.धर्म की आड़ में अधर्म के कारोबार से अकूत दौलत इकट्ठा कर चुका गुरमीत राम रहीम बलात्कार के जुर्म में 20 साल के लिए सलाखों के पीछे जा चुका है. उसने पाप और पाखंड की कमाई से ऐसे-ऐसे अरमान पूरे किए. ताजमहल आगरा में है लेकिन राम रहीम ने यूपी के आगरा से 460 किलोमीटर दूर हरियाणा के सिरसा में ताजमहल बनवा लिया.
 
एफिल टावर सात समंदर पार पेरिस में है लेकिन राम रहीम ने फ्रांस के पेरिस से छह हजार किलोमीटर दूर हरियाणा के सिरसा में एफिल टावर बनवा लिया. धर्म की दुकान चलाने वाले राम रहीम ने जेल जाने से पहले अपने हजारों ख्वाब पूरे किए लेकिन उसका एक ख्वाब अधूरा रह गया.राम रहीम का वो अधूरा ख्वाब है जल महल. जल महल पर पिछले छह महीने से काम चल रहा था. इसका पचास फीसदी से ज्यादा काम पूरा भी हो चुका था लेकिन इसी बीच राम रहीम जेल चला गया. गुरमीत राम रहीम का ये ड्रीम प्रोजेक्ट पूरी तरह से कारोबार से जुड़ा हुआ था.राम रहीम ने डेरा सच्चा सौदा के नाम पर अंध भक्तों को धन धन सतगुरु का जाप कराया और अपना ध्यान सिर्फ धन कमाने पर लगाए रखा. इस कड़ी में उसने एमएसजी रिसॉर्ट और एसएमजी होटल का कारोबार जमा लिया. इसके बाद राम रहीम का अगला ड्रीम प्रोजेक्ट जल महल का आया.जल महल के लिए कई एकड़ में खुदाई करवाई गई. पर्यटन और कमाई के लिहाज से इस जल महल को कशिश रेस्टोरेंट से जोड़ा जाना था. इसके लिए बाकायदा नहर खोदी गई. नहर में एक जहाजनुमा इमारत तैयार की गई, जिसमें छह कमरे बनाए गए हैं. इन कमरों की खासियत ये है कि ये सब पानी में हैं.
 
जल महल में कई बोट लगाए जाने का भी फैसला हो चुका था. नहर में कशिश रेस्टोरेंट से जलमहल तक करीबन एक किलोमीटर तक बोट से सैर कराने और पैसे कमाने की योजना थी. बलात्कारी बाबा का ये ख्वाब हकीकत की शक्ल लेने से बस कुछ कदम ही दूर था लेकिन अदालत ने बरसों पुराने उसके कुकर्मों का हिसाब कर दिया. मगर इससे पहले राम रहीम ने अपनी अय्याशियों को अंजाम देने के लिए राजे-रजवाड़ों जैसे रंगमहल और शीशमहल का जमकर लुत्फ उठाया. बताया जाता है कि सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के आश्रम के अंदर एमएसजी रिसॉर्ट में ये कमरा राम रहीम का है. जिसका दरवाजा खुद राम रहीम या फिर उसकी करीबी हनीप्रीत के फिंगर प्रिंट से खुलता है. कमरे में ना दिखने वाला टीवी बटन दबाते ही दीवार से बाहर निकलता है. जानकार तो यहां तक बताते हैं कि राम रहीम और हनीप्रीत इस कमरे में घंटों समय बिताते थे. बताया ये भी जाता है कि राम रहीम 10 लाख के बेड पर सोता था. उसके लिए लाल और गुलाबी रंग की खास चादरें विदेशों से मंगवाई जाती थी. डेरे के अंदर की दुनिया सितारों की दुनिया जैसी है. बलात्कारी बाबा ने यहां सिर्फ ताजमहल ही नहीं दुनिया के सभी सात अजूबों जैसी इमारतें बनवा रखी हैं. यहां मून हाउस से लेकर सन हाउस तक है. सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक सिर्फ सिरसा में ही राम रहीम का साम्राज्य 953 एकड़ जमीन पर फैला है.
 
एफिल टावर सात समंदर पार पेरिस में है लेकिन राम रहीम ने फ्रांस के पेरिस से छह हजार किलोमीटर दूर हरियाणा के सिरसा में एफिल टावर बनवा लिया. धर्म की दुकान चलाने वाले राम रहीम ने जेल जाने से पहले अपने हजारों ख्वाब पूरे किए लेकिन उसका एक ख्वाब अधूरा रह गया.राम रहीम का वो अधूरा ख्वाब है जल महल. जल महल पर पिछले छह महीने से काम चल रहा था. इसका पचास फीसदी से ज्यादा काम पूरा भी हो चुका था लेकिन इसी बीच राम रहीम जेल चला गया. गुरमीत राम रहीम का ये ड्रीम प्रोजेक्ट पूरी तरह से कारोबार से जुड़ा हुआ था.राम रहीम ने डेरा सच्चा सौदा के नाम पर अंध भक्तों को धन धन सतगुरु का जाप कराया और अपना ध्यान सिर्फ धन कमाने पर लगाए रखा. इस कड़ी में उसने एमएसजी रिसॉर्ट और एसएमजी होटल का कारोबार जमा लिया. इसके बाद राम रहीम का अगला ड्रीम प्रोजेक्ट जल महल का आया.जल महल के लिए कई एकड़ में खुदाई करवाई गई. पर्यटन और कमाई के लिहाज से इस जल महल को कशिश रेस्टोरेंट से जोड़ा जाना था. इसके लिए बाकायदा नहर खोदी गई. नहर में एक जहाजनुमा इमारत तैयार की गई, जिसमें छह कमरे बनाए गए हैं. इन कमरों की खासियत ये है कि ये सब पानी में हैं.
 
जल महल में कई बोट लगाए जाने का भी फैसला हो चुका था. नहर में कशिश रेस्टोरेंट से जलमहल तक करीबन एक किलोमीटर तक बोट से सैर कराने और पैसे कमाने की योजना थी. बलात्कारी बाबा का ये ख्वाब हकीकत की शक्ल लेने से बस कुछ कदम ही दूर था लेकिन अदालत ने बरसों पुराने उसके कुकर्मों का हिसाब कर दिया. मगर इससे पहले राम रहीम ने अपनी अय्याशियों को अंजाम देने के लिए राजे-रजवाड़ों जैसे रंगमहल और शीशमहल का जमकर लुत्फ उठाया. बताया जाता है कि सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के आश्रम के अंदर एमएसजी रिसॉर्ट में ये कमरा राम रहीम का है. जिसका दरवाजा खुद राम रहीम या फिर उसकी करीबी हनीप्रीत के फिंगर प्रिंट से खुलता है. कमरे में ना दिखने वाला टीवी बटन दबाते ही दीवार से बाहर निकलता है. जानकार तो यहां तक बताते हैं कि राम रहीम और हनीप्रीत इस कमरे में घंटों समय बिताते थे. बताया ये भी जाता है कि राम रहीम 10 लाख के बेड पर सोता था. उसके लिए लाल और गुलाबी रंग की खास चादरें विदेशों से मंगवाई जाती थी. डेरे के अंदर की दुनिया सितारों की दुनिया जैसी है. बलात्कारी बाबा ने यहां सिर्फ ताजमहल ही नहीं दुनिया के सभी सात अजूबों जैसी इमारतें बनवा रखी हैं. यहां मून हाउस से लेकर सन हाउस तक है. सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक सिर्फ सिरसा में ही राम रहीम का साम्राज्य 953 एकड़ जमीन पर फैला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App