नई दिल्ली. आस्था के नाम पर जब जिंदगी से खिलवाड़ किया जाने लगे, आस्था के नाम पर जिस्म लहूलुहान किया जाने लगे, तब आस्था को अंधविश्वास में बदलते वक्त नहीं लगता. 21वीं सदी के इस हिन्दुस्तान में आज भी ऐसी मान्यता है कि सिर पर नारियल फोड़ने से मन्नतें पूरी होती हैं लेकिन क्या वाकई ऐसा होता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भारत में हर शुभ रस्म नारियल के बिना अधूरी मानी जाती है. मंदिर, मुहूर्त, नई शुरुआत, व्रत, पर्व-उत्सवों में नारियल फोड़ना शुभ माना जाता है. आपने हमेशा ऐसा ही देखा होगा कि पहले नारियल देवी देवता के नाम पर अर्पित करते हैं फिर उसे किसी पत्थर पर फोड़ते हैं लेकिन हिंदुस्तान में एक जगह ऐसी भी है जहां नारियल फोड़ने की एक अजीब और बेहद खतरनाक परंपरा है. एक परंपरा ऐसी भी है जिसमें लोगों की जान जाने का खतरा होता है. 
 
तमिलनाडु के एक गांव में नारियल पत्थर पर नहीं बल्कि भक्तों के सिर पर फोड़ा जाता है. जी हां वही नारियल जो कई बार पत्थर पर जोर से पटकने पर भी नहीं टूटता उसे लोग अपने सिरों पर तोड़ते हैं. इस खतरनाक परंपरा के पीछे मान्यता है कि सिर पर नारियल फोड़ने से जीवन में आने वाली बाधाएं और संकट दूर हो जाते हैं.
 
इंडिया न्यूज़ की खास पेशकश में जानिए ऐसी मान्यताओं के बारे में जिन्हें पूरा करने पर आपकी जान भी जा सकता है.