नई दिल्ली. पाकिस्तान में किस तरह आंतकवादियों की फसल तैयार की जाती है, इस हकीकत से दुनिया वाकिफ है.उन आतंकीयों को खतरनाक असलहों से लैस करने का काम भी पाकिस्तान में खुलेआम होता है.और इसकी कई तस्वीरें भी आप देख चुके होंगे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि पाकिस्तान में कई ऐसे इलाके हैं जहां बिना किसी लाइसेंस के हजारों-लाखों की तादाद में अवैध हथियार बनाए जाते हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आज हम आपको पाकिस्तान के ऐसे गांव की कहानी दिखाएंगे जहां सैकड़ों-हजारों की तादात में लोग विनाशकारी हथियार बनाते हैं और उन्हें अपनी-अपनी दुकानों में सजाकर रखते हैं. आतंक के इस पाताल लोक में ऐसे-ऐसे हथियार बनाए जाते हैं. जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते.
 
अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी में बनने वाले घातक से घातक हथियारों की नकल भी हू-ब-हू तैयार कर दी जाती है.ये हथियार बिल्कुल ओरिजनल वैपन की तरह होते हैं.बताते हैं आपको यहां कैसे चलता है अवैध हथियारों का कारोबार.
 
पाकिस्तान की सरकार कहती है कि वो आतंकियों को हथियार नहीं देती.उसकी ये भी दलील है कि पाकिस्तान में कहीं भी खलेआम हथियार नहीं बनाए जाते हैं. लेकिन दर्रा आदम गांव की ये तस्वीरें पाकिस्तान की पोल खोलने के लिए काफी है.यहां बनने वाले हथियारों की सप्लाई सिर्फ पाकिस्तान और अफगानिस्तान में ही नहीं बल्कि सीमा-पार कश्मीर के आतंकियों तक भी होती है.