नई दिल्ली. हिंदुस्तान के एक हिस्से में अकाल है जहां बूंद-बूंद पानी के लिए लाखों की आबादी बेचैन है. यहां के खेतों से अनाज नहीं उदासी उपज रही है और नदियां, तालाब और हैंडपंप से पानी नहीं आंसू टपक रहे हैं. 
 
हिंदुस्तान का ये हिस्सा है बुंदेलखंड जो कि दर्द से कराह रहा है. बता दें कि करीब दो करोड़ लोगों से कुदरत तीन साल से रूठा है और पानी की किल्लत के चलते किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं. 
 
हालात ये हो गए हैं कि गांव वाले घर छोड़ने को है. इंडिया न्यूज के खास शो में देखिए क्यों बुंदेलखंड बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहा है. 
 
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए ग्राउंड जीरो से रिपोर्ट

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App