नई दिल्ली: देश की आजादी के बाद सरहद पर जब कभी दुश्मन ने आंख उठाकर देखने की जुर्रत की तो सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया. लेकिन देश के अंदर के दुश्मन तो बॉर्डर के दुश्मन से भी ख़तरनाक होते हैं. वो आसानी से पकड़ में नहीं आते. ऐसे लोगों को सामने लाती हैं हमारे अर्द्धसैनिक बल.
 
जो न सिर्फ हमारे बॉर्डर की निगहवानी करती है बल्कि देश के अंदर मौजूद दुश्मनों से भी लड़ती है. सेना के पराक्रम तो गाहे-बहागे सामने आते हैं. लेकिन पारा मिलिट्री के पराक्रम की कहानियां उस तरह से सामने नहीं आ पाती है. इंडिया न्यूज़ ने हाल ही में ऐसे शूरवीरों की कहानी देश-दुनिया के सामने लाई है. जिन्होंने वीरता-देशभक्ति की लकीर खींची. 
 
 
दिल्ली के ताज पैलेस होटल में शुक्रवार को इंडिया न्यूज द्वारा अर्द्धसैनिक बलों के सम्मान में शौर्यगाथा समारोह का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शिरकत की. साथ ही सम्मान समारोह में आईटीवी नेटवर्क के फाउंडर और प्रोमोटर कार्तिकेय शर्मा, एडिटर-इन-चीफ दीपक चौरसिया, मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत समेत कई वरिष्ठ पत्रकार और सुरक्षा बलों के जवानों व शहीदों के परिजनों मौजूद थे.
 
 
कार्यक्रम में सबसे पहले कार्तिकेय शर्मा ने राजनाथ सिंह को सम्मानित किया. फिर गृहमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि देश के जवानों की वजह से भारत में विकास हो पा रहा है. भारत को ऊंचाईयों तक ले जाने में इन जवानों का बहुत योगदान है. अपने संबोधन के बाद DIG इलंगो समेत 12 जांबाज बहादुर जवानों को गृहमंत्री द्वारा सम्मानित किया गया. 
 
 
इंडिया न्यूज़ हाल ही में अर्द्धसैनिक बलों के ऐसे शूरवीरों की कहानी देश-दुनिया के सामने लाया था जिन्होंने वीरता-देशभक्ति की लकीर खींची है. इसमें BSF, CRPF, CISF, ITBP, SSB, AR के जवान शामिल हैं. इनमें से किसी जवान ने बॉर्डर पर दुश्मनों के दांत खट्टे किए हैं तो किसी ने नक्सलियों की पूरे लश्कर को हराया है. इन जवानों में से कोई DIG हैं तो कोई कॉस्टेबल भी है. 
 
 
एस इलंगो, DIG, CRPF 
23 फरवरी 2013 को छत्तीसगढ़ के बीजापुर में CRPF के ऑपरेशन को लीड करते हुए…DIG इलंगो ने 100 से ज्यादा नक्सलियों के मंसूबों पर पानी फेर दिया. इतना ही नहीं आगे बढ़कर उनकी सप्लाई चेन तोड़ डाली. रात भर चले एनकाउंटर में माओदियों का इतना बड़ा नुकसान हुआ कि अगले दो सालों तक इस इलाके में वो सिर नहीं उठा सके.
 
इतना ही नहीं पंजाब में आतंकवाद के दौरान भी इलंगो ने होशियारपुर में एसपी ऑपरेशन के पद पर रहते हुए एक बड़ा सफल ऑपरेशन किय. तीन बार उन्हें पुलिस गैलेन्ट्री का सम्मान मिला. मूल रूप से तामिलनाडु के रहने वाले इंलगो फर्राटेदार हिंदी और पंजाबी बोलते हैं और आज भी 25 किलो वजन के साथ 40 किलोमीटर पैदल चलने का माद्दा रखते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App