नई दिल्ली: BSF की दो बटालियन ने मिलकर गाजी बाबा को ढेर किया. गाजी बाबा उर्फ राणा ताहिर जैश-ए-मोहम्मद का ऑपरेशनल हेड है. इसके लिए N.N.D. दुबे कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया. बता दें कि तत्कालीन राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने सम्मानित किया था. 2001 के संसद हमले का मास्टरमाइंड था गाजी बाबा.
 
बता दें कि गाजी बाबा के कहने पर ही जम्मू-कश्मीर के रहने वाले अफजल गुरु तथा शौकत हुसैन गुरु ने इस हमले के लिए पाकिस्तान से मोहम्मद, हमजा, राणा, हैदर व रजा नामक पांच आंतकियों को संसद भवन पर हमले के लिए दिल्ली तक लाया था. स्पेशल सेल ने इस महत्वपूर्ण केस का महज दो दिनों के भीतर ही खुलासा कर दिया था.
 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि संसद भवन पर हमले की साजिश में ‘जैश ए मोहम्मद’ के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका थी और उसी के कहने पर गाजी बाबा ने इस हमले का जिम्मा अफजल को सौंपी थी. देखिए इंडिया न्यूज शो शौर्य गाथा में देखिए गाजी बाबा की पूरी कहानी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App