नई दिल्ली: पुरानी कहावत है कि सांप भी मर जाये और लाठी भी ना टूटे. पीएम मोदी ने आतंक के आका हाफिज़ सईद के साथ कुछ यही किया है. हालात ऐसे है कि हाफिज़ सईद का गला सूख रहा है. उसके दिमाग ने काम करना बंद कर दिया है. खुद को पाक साफ बताने के लिए हाफिज़ सईद कुछ ना कुछ बड़बडाए जा रहा है. आज आपको दिखायेंगे कैसे खौफ की वजह से हाफिज़ की हवाईयां उड़ी हुई हैं और वो चीखता फिर रहा है कि मोदी मुझे मार देंगे.

हाफिज सईद यही मान रहा था कि उसके बारे में दुनिया चाहे जो कहे. कम से कम पाकिस्तान में तो कोई उसे छू भी नहीं सकता, लेकिन हाफिज़ का ये भ्रम उस वक्त टूट गया. जब पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ने हाफिज़ के 2 संगठनों पर चंदा लेने की रोक लगा दी. यानी चंदे की जिस रकम से हाफिज़ दहशतगर्दी का खेल खेलता था. उस पर पूरी तरह ब्रेक लग गया है. उधर अमेरिका के रूख ने पाकिस्तान को आतंक के आकाओं पर कार्रवाई करने के लिए मजबूर कर दिया. इस तरह हाफिज़ चारों तरफ से घिर गया है.

हाफिज़ सईद ऐसे चक्रव्यूह में फंस गया है. जहां उसके पास सिवाय गिड़गिड़ाने के कोई रास्ता नहीं बचा है. ये वही हाफिज़ है जो कुछ दिनों पहले तक आईएसआई के इशारे पर हिंदुस्तान की बर्बादी की खुलेआम तकरीर किया करता था. कश्मीर के युवाओं को हथियार उठाने के लिए उकसाया करता था, लेकिन अब जब पाकिस्तान की हुकूमत हाफिज़ से आंखें फेर रही है तो हाफिज की जान निकली जा रही है.

सलाखें: युद्ध के लिए नार्थ कोरिया और अमेरिका दोनों मुल्क हो गए हैं तैयार!

सलाखें: पलवल में साइको किलर ने अंधेरी रात में 2 घंटों में की 6 हत्याएं, पुलिस ने किया गिरफ्तार