नई दिल्ली: आरुषि हत्याकांड की तरह गुरुग्राम के प्रद्युम्न हत्याकांड में भी सीबीआई 2 महीने बाद नया कातिल लेकर सामने आ खड़ी हुई है. 22 सितंबर को सीबीआई ने 25 मिनट के सीसीटीवी फुटेज की खंगालना को शुरू किया था. सीसीटीवी कैमरे में कंडक्टर से पहले 7 छात्र टॉयलेट जाते हुए दिखाई दिए थे. सीबीआई का दावा है कि मासूम प्रद्युम्न का कत्ल उसी स्कूल में पढञने वाले 11वीं के एक छात्र ने किया था. वजह बस इतनी सी थी कि वो इम्तिहान और पीटीएम से छात्र छुट्टी चाहता था, लेकन सीबीआई के इस खुलासे से सवालों की एक आंधी भी उठ खड़ी हुई है. कल तक हरियाणा पुलिस गला फाड़कर चिल्ला रही थी कि रेयान स्कूल के बस कंडक्टर अशोक को प्रद्युम्न का कातिल बता रही थी और तो और अशोक का इकबालिया बयान तक करा दिया.

सीबीआई के नए मुल्जिम को सामने लाने का दूसरा मतलब ये हुआ कि उन्होंने गुरुग्राम पुलिस द्वारा पकड़े गए कंडक्टर अशोक को क्लीन चिट दे दी है. कमिश्नर खुलकर कहें ना कहें उनका चेहरा बता रहा है कि उन्होंने इस केस में बंदर को भालू बनाकर अदालत में पेश किया है. सीबीआई ने छात्रों की दिमागी हालत, एकेडमिक हिस्ट्री की भी पड़ताल की है. बता दें कि आरोपी छात्र की एकेडमिक हिस्ट्री खराब निकली और साथ ही ये बात भी सामने आई है कि वह झगड़ा भी किया करता था. सीबीआई की पूछताछ में आरोपी ने प्रद्युम्न की हत्या का गुनाह भी कबूल कर लिया है.

प्रद्युम्न की हत्या मामले में पकड़े गए बस कंडक्टर अशोक के परिवार वाले करेंगे पुलिस पर केस

(वीडियो में देखें पूरा शो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App