नई दिल्ली: सनकी किम जोंग की धमकियों के पीछे कौन है ‘इंडिया न्यूज’ ने इसी शो में आपको पहली बार बताया था. हमने किम जोंग के दो शार्गिदों के चेहरे भी दिखाये थे.. हमने आपको बताया था कि किम जोंग रंगा-बिल्ला की बदौलत पूरी दुनिया से टकराने को तैयार है. अब रंगा-बिल्ला से जुड़ी ताजा ख़बर सामने आई है. तानाशाह ने इन दोनों वैज्ञानिकों के सम्मान में समारोह आयोजित किया था. जिसमें दोनों को नॉर्थ कोरिया के सर्वोच्च सम्मान से नवाजा गया है.

रंगा-बिल्ला के सम्मान में किम जोंग ने इस कार्यक्रम को खास मकसद से आयोजित कराया था. दरअसल दोनों वैज्ञानिकों को सम्मानित कर किम जोंग ने भविष्य के लिए और घातक हथियार बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. साथ ही साथ दोनों को पहले से ज्यादा अधिकार भी दिये गये हैं. यकीन मानिये जब रंगा-बिल्ला को मिली ताकत के बारे में जानेंगे तो आप भी हैरत में पड़ जायेंगे. क्योंकि दोनों ताकत के मामले में किम जोंग से कम नहीं हैं..

अमेरिका समेत दुनिया यही मानती आई है कि किम जोंग खत्म तो नॉर्थ कोरिया का किस्सा खत्म. लेकिन किम जोंग ने जो दहशत फैला रखी है. उसके पीछे रंगा बिल्ला का ही दिमाग है. दरअसल दो साल में नॉर्थ कोरिया ने कभी हाइड्रोजन बम तो कभी परमाणु बम का टेस्ट किया. ताबड़तोड़ मिसाइल टेस्ट कर किम जोंग ने दुनिया को दहशत में डाल रखा है. ताजा खुलासे से साफ है कि जब तक रंगा बिल्ला हैं, तब तक किम जोंग हथियार टेस्ट करता ही रहेगा.

नॉर्थ कोरिया परमाणु और हाइड्रोजन बम अपने पास होने का दावा करता है और इन खतरनाक हथियारों को रंगा-बिल्ला की बदौलत ही नॉर्थ कोरिया ने हासिल किया है. लेकिन अमेरिकी एजेंसी की ताजा रिपोर्ट में दावा किया गया है कि तानाशाह के पास जैविक हथियार भी हैं. जिनसे किम जोंग एक वार में कम से कम 20 लाख लोगों की जान ले सकता है और इन खौफनाक हथियारों के पीछे भी किम जोंग के रंगा बिल्ला ही हैं.

सलाखें: अमेरिका, साउथ कोरिया और जापान मिलकर कर रहे हैं किम जोंग की तबाही की तैयारी !

सलाखें: इन दो ‘रंगा-बिल्ला’ के इशारों पर चलता है किम जोंग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App