नई दिल्ली: ईंट का जवाब पत्थर से कैसे दिया जाता है..और अपने दुश्मन को उसकी हद कैसे बताई जाती है. हिंदुस्तान ने एक बार फिर दिखा दिया.. पीओके में घुसकर हमारे जवानों ने 3 पाकिस्तानी सैनिकों को ढेर किया..और इसी के साथ 4 भारतीय शहीद जवानों की शाहदत का बदला ले लिया. आखिर कैसे इस ऑपरेशन को पूरा किया गया. इंडिया न्यूज़ ग्राउंड जीरो पर पहुंचा और इस पूरे ऑपरेशन की एक एक ख़बर आपतक लेकर आया है.तो आईये देखते हैं..बॉर्डर पर बदला.

आपने देखा किस तरह से भारतीय सेना ने अपने शहीद जवानों का बदला लिया..और पाकिस्तान को उसी की हद में घुसकर जवाब दिया. लेकिन जिस रणक्षेत्र में पाकिस्तान ने भारतीय जवानों को निशाना बनाया था उसकी निगरानी करना आसान नहीं है. पहाड़ी इलाका होने के साथ साथ यहां घने जंगल भी है. बावजूद इसके भारतीय जवान चौबीस घंटे वहां डटे रहते हैं. इस इलाके में इंडिया न्यूज़ की टीम पहुंची और देखा की कैसे हमारे जवान देश की हिफाज़त में मुस्तैद रहते हैं.

भारतीय सेना ने कश्मीर में आतंकियों की कमर तोड़कर रख दी है..इससे पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और किसी भी सूरत में आतंकियों की घुसपैठ कराना चाहता है. इंडिया न्यूज़ को सूत्रों से पक्की ख़बर मिली है कि घाटी में घुसपैठ के लिए पीओके के अलग अलग कैंप में सैंकड़ों आतंकी तैयार बैठे हैं. आईएसआई इन आतंकियों को जल्द से जल्द घुसपैठ कराना चाहती है लेकिन कश्मीर की आबोहवा अब बदल चुकी है. आतंकी यहां आए तो मरना तय है.

सलाखें: 20 शहरों में चल रही है रेप के आरोपी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित की तलाश

सलाखें: लड़कियों पर काला जादू करता था बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित!