नई दिल्ली: जिस्म का कोई हिस्सा अगर नासूर बन जाए तो डॉक्टर उसे काट देने का सलाह देते हैं लेकिन पाकिस्तान दुनिया के लिए नासूर बन चुके मुंबई हमले के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने को तैयार नहीं है. जिस हाफिज सईद को अमेरिका आतंकी मानता है, उसी हाफिज सईद को पाकिस्तान ने दिखावे की नजरबंदी से आजाद कर दिया है. हाफिज सईद की रिहाई के बाद अब सवाल ये उठता है कि क्या हाफिज सईद को पाकिस्तान में घुसकर मारना ही आखिरी रास्ता बचा है. हाफिज सईद हमेशा से ही भारत के खिलाफ जहर उगलता आया है, इतना ही नहीं, ये बार-बार हिंदुस्तान को धमकी देता है. 23 नवंबर 2017 को दस महीने बाद पाकिस्तान ने हाफिज सईद को नजरबंदी से रिहा कर दिया है.

आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि हाफिज सईद को सुपारी किलर से अपनी जान का खतरा भी दिख रहा है. शायद आप लोग इस बात से अंजान होंगे कि हाफिज सईद की नजरबंदी के बाद 195 आतंकियों को खत्म किया गया है. हाफिज सईद पाकिस्तान में युवाओं को भारत के खिलाफ उकसाता है. डिफेंस एक्सपर्ट का कहना है भारत पाकिस्तान में घुसकर आतंकी को खत्म कर सकता है. जेल से बाहर आते ही हाफिज सईद ने भड़काऊ भाषण देते हुए कहा कि मुझे 10 महीनों तक नजरबंद रखा गया ताकि मैं कश्मीर मुद्दे पर कुछ बोल न सकूं.हाफिज सईद की रिहाई के बाद अमेरिका ने पाकिस्तान से कहा कि हाफिज सईद को उसके अपराधों के लिए सजा देनी चाहिए. 24 नवंबर 2017 को अमेरिका ने इस बात की मांग उठाई है.

सलाखें: भारत के ब्रह्मोस मिसाइल का परीक्षण सफल, चीन-पाकिस्तान के उड़े होश!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App