नई दिल्ली: भारत और श्रीलंका के बीज खेले जा रहे टेस्ट सीरीज के तीसरे और आखिरी मुकाबले में श्रीलंका ने अपनी पहली पारी में 9 विकेट के नुकसान पर 356 रन बना लिए हैं. कप्तान दिनेश चंडीमल 147 रनों पर नाबाद है. टीम इंडिया पहली पारी में अभी भी श्रीलंका से 180 रन आगे है. भले ही श्रीलंका की टीम दिल्ली टेस्ट मैच के तीसरे दिन ऑलआउट होने से बच गई है. लेकिन न तो हार टलती दिख रही है और नहीं विराट कोहली का साल 2017 में जीत का विजयरथ लंका रोकते दिख रही है. तीसरे टेस्ट में अभी भी 2 दिन यानी 6 सेशन का खेल बाकी है. यानी चौथे दिन 2-3 घंटे की बल्लेबाजी के बाद भारतीय गेंदबाजों के पास श्रीलंका के 10 विकेट लेने का मौका भरपूर है. इससे पहले हालाकि श्रीलंकाई बल्लेबाजों ने सीरीज में अब तक का सबसे बड़ा स्कोर खड़ा किया.

क्योंकि 2015 के बाद एंजेलो मैथ्यूज ने शतक लगाया और दूसरे शतकवीर कप्तान चंडीमल का बखूबी साथ निभाया. मैथ्यूज ने 268 गेंदों पर 111 रनों की पारी खेली. चौथे विकेट के लिए मैथ्यूज और चंडीमल ने 2013 के बाद भारत में सबसे ज्यादा गेंद खेली. इस जोड़ी ने 477 गेंद खेल चौथे विकेट के लिए 181 रन जोड़े. इस जोड़ी का तोड़ने का काम अपने फेवरेट ग्राउंड में आर अश्विन ने मैथ्यूज को आउट कर किया.इसके बाद ईशांत, शमी और जडेजा ने एक-एक विकेट लिए. अश्विन ने दो विकेटों के साथ संख्या 9 तक पहुंचा दी. लेकिन सबसे खास रहा.पहले सेशन में खराब फील्डिंग करनी वाली टीम इंडिया. आखिरी सेशन में विकेटों के पीछे और close in फील्डिंग में जबरदस्त मुस्तैद नजर आई. एक नही, दो नहीं, पूरे पांच कैच छोड़े हैं.

दुनिया की बेस्ट फील्डिंग होने का दावा है हमारा. लेकिन ये दावा सिर्फ जुमला बनकर रह गया. दक्षिण अफ्रीका दौरे से ठीक पहले स्लिप कैचिंग एक बार फिर झकझोरने का काम कर रही है. विराट कोहली जिसको भी स्लिप पर लगा रहे हैं. वो कैच छोड़कर हर मंसूबे पर पानी फेर दे रहा है. तमाम प्रैक्टिस भी किसी काम की नज़र नहीं आ रही. जबकि इसी महीने टीम इंडिया साउथ अफ्रीका के दौरे पर जाने वाली है. ऐसे में टीम इंडिया की ये खराब फिल्डिंग विराट कोहली के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकती हैं.

वीडियो में देखें पूरा शो: