केपटाउन: साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के पहले दिन भारत ने जीतनी अच्छी शुरुआत की टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने सपने में ऐसी कल्पना नहीं की होगी. मैच के शुरू में सीम गेंदबाजी का अद्भुत खेल देखने को मिला. भुवनेश्वर कुमार ने तीन ओवर में तीन विकेट झटक कर साउथ अफ्रीका को बड़ा झटका दे दिया. भुवी ने ये सब कुछ सीम मूवमेंट के सहारे किया. लेग और मीडिल स्टंप पर पड़ी गेंद सीम के सहारे थोड़ी सी बाहर निकली और डीन एल्गर चाहकर भी गेंद छोड़ नहीं सके. पहली विकेट सीम के सहारे बाहर जाती गेंद पर मिली तो उतनी ही sharp तरीके से सीम के सहारे एडन मार्कराम भी भुवी की गेंद पर अपना विकेट गंवा दिए. लेकिन सबसे बड़ी विकेट हाशिम अमला की लेट सीम मूवमेंट के साथ बाहर जाती गेंद पर मिली. पहले तीसरे और पांचवे ओवर में विकेट निकालकर.

भुवी ने मैच के अपने पहले तीन ओवर को सफल बनाया. बल्कि केपटाउन की पिच पर साउथ अफ्रीका के टॉप थ्री बल्लेबाजों की तकनीक की भी पोल खोल कर रख दी. पिछले 20 साल में ये छठा मौका है जब साउथ अफ्रीका ने घर में पहले दिन विकेट 15 रन से पहले खो दिए. भले ही शुरुआती झटकों के बाद साउथ अफ्रीकी संभल गया लेकिन टॉस जीतते तो भी कोहली इस पिच पर बॉलिंग ही चुनते. कप्तान की पिच से शुरुआती मदद लेनी की आधी हसरत भुवी ने तो पूरी कर दी. लेकिन मोहम्मद शमी थोड़ी लय में और बूमराह टेस्ट डेब्यू में भी नाम के मुताबिक काम करते. तो फिर सोने पर सुहागा होता.

जब अफ्रीकी टीम का एक-एक बल्लेबाज़ रन के जूझ रहा था तब डिविलियर्स ने धूम-धड़ाका कर रहे थे. टेस्ट में वनडे की तरह में विकेट के चारों और चौकों-छक्कों की बरसात शुरू कर दी. डिविलियर्स ने सिर्फ 55 गेंदों में ही अपना अर्धशतक पूरा कर लिया. डिविलियर्स ने कप्तान डू प्लेसिस के साथ मिलकर शतकीय साझेदारी की. 12 रन पर 3 विकेट गिरने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका ने 4 से ज्यादा का रन रेट बरकरार रखा. ज़िम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज़ को छोड़ दे तो डिविलियर्स लंबे समय बाद टेस्ट क्रिकेट में खेल रहे हैं और जिस तरह से डिविलियर्स ने केपटाउन में रन बनाए उसके बाद अब टीम इंडिया को और भी ज्यादा अलर्ट रहना होगा.

वीडियो में देखें पूरा शो-