नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मुंबई में श्रीलंका के खिलाफ विनिंग शॉट लगाकर एक बार फिर पुरानी यादें ताजा कर दी. वो भी क्रिसमस के एक दिन पहले. ये तो सोने पर सुहागा हो गया. कहते हैं न कि सेंटा आएगा खुशिया लाएगा. साल 2017 के आखिरी मैच में धोनी के सिर पर सेंटा की टॉपी सिर्फ एक बार दिखी.लेकिन जीत का तोहफा वो साल भर टीम को बड़ी शांती से देते रहे. धोनी के विनिंग शॉट के बाद क्रिकेट जगत में एक बार फिर उनके खेल को लेकर चर्चा उठने लगी. इस बीच टीम के कोच रवि शास्त्री के साथ-साथ चयनकर्ता भी धोनी के पक्ष में खुलकर अपनी राय रख दी. टीम इंडिया चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने तो यहां तक कह दिया कि धोनी अब भी भारत के बेस्ट विकेटकीपर हैं और 2019 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया की फर्स्ट च्वाईश हैं. उन्होंने कहा कि कोई भी युवा विकेटकीपर भारत में क्या दुनिया में धोनी के आस-पास भी नहीं है.

आइए अब बात धोनी के 2017 के आंकड़ो पर डाल लेते हैं. इस साल वनडे में धोनी ने 60.61 की औसत से 788 रन बनाए हैं तो वहीं विकेट के पीछे 39 शिकार किए हैं. बात टी-20 की करें तो धोनी ने 138.46 की स्ट्राइक रेट से 256 रन बनाए हैं, जबकि विकेट के पीछे कुल 13 शिकार किए हैं. इसी काबिलियत की वजह से धोनी कोहली-शास्त्री के मिशन 2019 की सबसे अहम कड़ी हैं. 36 साल में भी इनके फिनशर का अंदाज मुंबई टी-20 में दिखा. फिर एक बार फंसे मैच में विनिंग शॉट लगा.

एक साल में 14 सीरीज हुई शास्त्री की झोली में आए.धोनी ने अहम भूमिका निभाई. क्रिसमस की शाम खास बना. रोहित को दूसरी सीरीज जीत सौगात में दी. सीरीज में भी जब जब रोहित का बॉलिंग चेंज में सिर चक्कराया धोनी उनकी मदद के लिए हमेश तैयार दिखे. रोहित ही क्या .रेग्यूलर कैप्टन कोहली के लिए भी जीत का बिगुल धोनी की धुन पर ही बजता है. कभी विकेट के आगे बल्ले से तो कभी विकेट के पीछे चतुराई से. टीम इंडिया को जीत मिल ही जाती है.

वीडियो में देखें पूरा शो-

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App