कोलंबो: कोलंबो के एसएससी मैदान पर टीम इंडिया ने तीसरी जीत हासिल की. किसी भी विदेशी टीम ने ये पहली बार किया है. वैसे इसी मैदान पर दो टेस्ट मैच जीतने वाले विराट कोहली दुनिया के इकलौते कप्तान हैं. बार-बार हर बार विराट की ये टीम मैदान पर उतरती है और जीत पर अपना नाम लिखवा कर ही अपना वापस लौटती है.
 
टीम इंडिया के जीत के एक-एक हीरो से आपको मिलवाएं उससे पहले जरा इस कप्तान की के तरफ देख लीजिए. पूरे मैच नें कोई सबसे ज्यादा एक्टिव रहता है तो वो है ये कप्तान है. जब भी कैमरा विराट पर जाता कप्तान अपने खिलाड़ियों का जोश बढ़ाता ही नज़र आता. भले ही श्रीलंका की टीम कमजोर हो, लेकिन शास्त्री की इन बातों पर मोहर तो ये आकंड़े लगाते ही है.
 
विराट की कप्तानी में ये लगातार 8वीं सीरीज़ जीत है और अब वो सिर्फ महान पॉन्टिंग से सिर्फ एक कदम पीछे है. श्रीलंका में सबसे ज्यादा टेस्ट जीतने वाली टीमों के मामले में भी हिंदुस्तान ने पाकिस्तान की बराबरी कर ली है. विदेश में सबसे ज्यादा टेस्ट जीतने वाले भारतीय कप्तानों की लिस्ट में भी विराट ने धोनी की बराबरी कर ली है और अब उनसे आगे सिर्फ और सिर्फ सौरव गांगुली ही हैं साथ ही एसएससी, कोलंबो में पारी से टेस्ट जीतने वाले भी ये पहली भारतीय टीम है.
 
अभी इस सीरीज़ का एक मैच बाकी है और देखते जाईऐ कई रिकॉर्ड पर विराट और इस टीम का नाम लिखा जाना बाकी है. शुरु करें जडेजा मोटांज में हाथ जोडते हुए हाथ से जोश करते हुए. अश्विन विकेट लेने के बाद जश्न मनाते हुए. कोहली की राहत टीम इंडिया की शान, वर्ल्ड क्रिकेट में भी पूरा नाम  है जोड़ी चली तो जीत पक्की है.
 
कोलंबों के एसएसी मैदान पर दोनों छोर से दुनिया के दो बेस्ट स्पिनर गेंदबाजी कर रहे हो. तो लंका लूटनी तय ही थी. ये जोड़ी टेस्ट की सबसे खतरनाक जोड़ी सिर्फ गेंदबाजी में नहीं बल्कि बैटिंग में अपने योगदान के दम पर भी बनी है. इसके एक कदम आगे जडेजा तो फिल्डिंग में भी दुश्मनों का काल हैं.
 
इस वीओं पर लगाएं मैन ऑफ द मैच लेने जाते हुए जडेजा पीछे से कोहली हाथ मारते हुए. तभी तो पिछले एक साल में टीम इंडिया के सबसे बड़े मैच विनर बन गए हैं जडेजा. साथ ही आपको बता दें कि श्रीलंका दौरे पर गई भारतीय टीम को बड़ा झटका लगा है. टीम में ऑलराउंडर की भूमिका निभाने वाले रवींद्र जडेजा को आगामी पलेकेले टेस्ट के लिए निलंबित कर दिया गया है.
 
जडेजा को कोलंबो में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन मैच के दौरान जडेजा को किसी तीसरे व्यक्ति पर या उसके पास गेंद फेंकने से संबंधित आचार संहिता का दोषी पाया गया. जडेजा का डिमेरिट प्वाइंट पिछले 24 महीनों में 6 बार पहुंच गया है जिसके बाद उन पर एक मैच का बैन लगाया गया है. 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App