नई दिल्ली: चैम्पियंस ट्रॉफी खत्म हो चुकी है और टीम इंडिया आज अपने अगले पड़ाव वेस्टइंडीज के लिए भी रवाना हो गई है. लेकिन इस बीच जो एक चेहरा सितारा बनकर चमका वो रहा चीकू का चुलबुल पांडे. चाहे बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी, दोनों ही मोर्चे पर विराट के इस खिलाड़ी ने टूर्नामेंट में ना सिर्फ खुद को साबित किया बल्कि विरोधी टीमों की बत्ती भी गुल की.
 
ये है जज्बा जिसने दुनिया भर के लाखों फैंस के दिल में हार्दिक पांड्या को एक फाइटर के तौर पर स्थापित कर दिया है. मुश्किल से मुश्किल हालात में भी उम्मीद का दामन नहीं छोड़ना विराट के इस शेर का हुनर है.
 
इस पूरी चैम्पियंस ट्रॉफी में जब-जब जरुरत पड़ी है हार्दिक ने जलवा दिखाया है. पाकिस्तान के खिलाफ लीग मैच हो या फाइनल हार्दिक ने दिखाया कि अपने हुनर और हौंसले से वो कभी हिम्मत नहीं हारते हैं.
 
 
लीग मैच में पाकिस्तान के खिलाफ आखिर में पांड्या ने 3 जोरदार छक्के जमाकर पाकिस्तान के दिल पर हार की मुहर लगा दी थी और फिर फाइनल में भी वो मैच का रुख पलटने की यलगार कर ही चुके थे. हार्दिक ने सिर्फ 43 गेंद पर 4 चौके और 6 बड़े छक्कों के साथ 76 रन बनाए.
 
 
पांड्या ने सिर्फ 32 गेंद पर अर्धशतक जमाया जो ICC टूर्नामेंट के फाइनल में इतिहास का सबसे तेज अर्धशतक था. पहले ये रिकॉर्ड एडम गिलक्रिस्ट के नाम था जिन्होंने 2003 वर्ल्ड कप में 33 गेंद पर अर्धशतक जमाया था.
 
वीडियो में देखें पूरा शो…

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App