नई दिल्ली. इस साल नवरात्रि पूजन 29 सितंबर 2019 से शुरू हो रही है. नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री के रूप में विराजमान होती हैं. उस दिन कलश स्थापना के साथ-साथ मां शैलपुत्री की पूजा भी की जाती है. भारतीय शास्त्रानुसार पूजन और कलश स्थापना अश्विन शुक्ल प्रतिपदा के दिन सूर्यादय के बाद करनी चाहिए. कलश स्थापना के साथ ही नवरात्र की शुरुआत हो जाती है. यदि प्रतिपदा के दिन चित्रा नक्षत्र और वैधृति योग हो तो वह दिन दूषित होता है. इस बार 29 सितंबर को प्रतिपदा के दिन हस्त नक्षत्र और ब्रह्म योग है.

कलश स्थापना शुभ मुहूर्त: Kalash Sthapana Subh Muhurat

नवरात्रि के 9 दिनों में मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है. नवरात्रि के दौरान नौ दिनों तक देवी दुर्गा का पूजन और सप्तशती का पाठ किया जाता है. शारदीय नवरात्रि की शुरुआत कलश स्थापना से होती है. इस साल कलश स्थापना का मुहुर्त 29 सितंबर को  सुबह 11 बजकर 47 मिनट से लेकर 12 बजकर 35 मिनट का है.

कलश स्थापना विधि: Kalash Sthapana Vidhi

कलश स्थापना के लिए शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि के दिन सुबह स्नान करके पूजा का संकल्प लिया जाता है. संकल्प लेने के बाद मिट्टी की वेदी बनाकर जौ को बोया जाता है और इसी वेदी पर कलश की स्थापना करते है. घट के ऊपर कुल देवी की प्रतिमा स्थापित कर पूजन किया जाता है और दुर्गा सप्तशती का पाठ किया जाता है. नवरात्रि के दौरान अखंड दीप जलाने का भी विधान है. मान्यता है कि इन दिनों में मंत्र जाप करने से मनोकामना पूरी होती है. नवरात्रि के पहले दिन कलश स्थापना के बाद मां दुर्गा की पूजा शुरु की जाती है.

When is Durga Puja VijayaDashami 2019 Durga Puja Navaratri Ashtami Navami Dussehra Vijayadashami 2019 Calendar Dates

29 September, 2019- Navaratri begins, Kalash Sthapana, कलश स्थापना, नवरात्रि की शुरुआत

6 October- Durga Ashtami, Maha Ashtami, Ashtami, दुर्गा अष्टमी, महाअष्टमी, अष्टमी

7 October- Durga Navami, Maha Navami, Navami, दुर्गा नवमी, महानवमी, नवमी

08 October- Dusshera, Vijayadashami, दशहरा विजयदशमी

Guru Purnima 2019 Mantra: 16 जुलाई को मनाया जाएगा गुरु पूर्णिमा पर्व, जानिए मंत्र और महत्व

Jyeshtha Purnima 2019: जानिए कब है ज्येष्ठ पूर्णिमा, महत्व, तिथि, पूजा, शुभ मुहूर्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App