नई दिल्ली. शक्ति उपासना के पर्व नवरात्र की शुरुआत हो गई है. कोरोना के कहर के बीच भक्त देवी मंदिरों में दर्शन-पूजन कर रहे हैं. इन सबके बीच  प्रयागराज में एक ऐसा डिजिटल प्लेटफार्म तैयार किया गया है, जहां घर बैठे आप देश ही नहीं, दुनिया भर में जहां भी दुर्गा पूजा हो रही हैं, वहां के दर्शन कर सकते हैं.

इस प्लेटफार्म पर मीरापुर बारवारी दुर्गा पूजा समिति की पूजा भी दिखेगी और पश्चिम बंगाल, दिल्ली, मुंबई, यूपी, उड़ीसा, झारखंड, पंजाब, कर्नाटन, तेलंगाना की भी दुर्गा प्रतिमाओं और पंडालों के दर्शन होंगे. इसके अलावा अमेरिका, इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया, जापान में भी प्रवासी भारतीयों की ओर से मनाई जाने वाली दुर्गा पूजाओं के बारे में भी जानकारी मिलेगी. इस डिजिटल नेटवर्क की संचालिका शिल्पी बताती हैं कि कोरोना संक्रमण से प्रभावित दौर में साइबर स्पेस में दुर्गा पूजा के ऑनलाइन दर्शन की इस पहल से लोगों को उत्सवों से जुड़ने में मदद मिल सकेगी.

सुबह और शाम को होगा लाइव प्रसारण

पर्यटन विभाग के फेसबुक,यूट्यूब और ट्विटर अकॉउंट पर भक्त नवरात्र के नौ दिन सुबह और शाम 7 से 8 बजे तक लाइव स्ट्रीमिंग के जरिए अलग-अलग दिन मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों से दर्शन कर सकेंगे.

अनलॉक -5 में दुर्गा पूजा के लिए प्रतीकात्मक स्वरूप में छोटी प्रतिमाओं के पूजन के साथ ही पंडालों में क्ति उपासना के पर्व नवरात्र की शुरुआत हो गई है. कोरोना के कहर के बीच भक्त देवी मंदिरों में दर्शन-पूजन कर रहे हैं. इन सबके बीच यूपी पर्यटन विभाग इस नवरात्र घर बैठे भक्तों को देवी के नौ स्वरूपों के दर्शन करा रहा है.

पर्यटन विभाग के फेसबुक,यूट्यूब और ट्विटर हैंडल पर भक्त नवरात्र के नौ दिन काशी में स्थित देवी के नौ स्वरूपों के दर्शन कर सकेंगे. लखनऊ से आई टीम ने नवरात्र के पहले दिन शैलपुत्री मंदिर से सुबह 7 से 8 बजे तक लाइव स्ट्रीमिंग के जरिए भक्तों को माता का दर्शन कराया था.
 
डिजिटल दुर्गा पूजा में ये होगी खास

डिजिटल दुर्गा पूजा में आपको एक साथ बहुत सी जानकारियां हासिल होंगी. युवाओं को दुर्गा पूजा के इतिहास की जानकारी तो मिलेगी ही, मान्यताओं, पूजा पद्धति व विधि-विधान से भी परिचित कराया जाएगा. इसके अलावा दशभुजा के अस्त्र, बारवारी पूजा की परिकल्पना, अकाल-बोधन पूजा, अंग्रेजों के जमाने की कंपनी पूजा, चक्षु दान, खूंटी पूजा, कुंवारी कन्या पूजा, कोला बोऊ स्नान समेत अन्य धार्मिक मान्यताओं की जानकारी भी मिल सकेगी.

मां दुर्गा के नौ स्वरूपों के मन्दिर काशी में है स्थित

महादेव की नगरी काशी में देवी दुर्गा के नौ अलग-अलग स्वरूपों के मंदिर हैं. यहां अलग-अलग दिन भक्त दर्शन को जाते हैं. वाराणसी के अलईपुर में माता शैलपुत्री, काल भैरव मंदिर के पीछे माता ब्रह्मचारिणी, चौक स्थित चित्रघंटा गली में माता चन्द्रघंटा, दुर्गा कुंड में माता कूष्मांडा,जैतपुरा में स्कंदमाता, संकट्ठा घाट में माता कात्यायनी, कालिका गली में माता कालरात्रि, अन्नपूर्णा मंदिर में महागौरी दुर्गा और गोलघर में सिद्धिदात्री देवी का मंदिर स्थापित है.

Sun Transit 2020: सूर्य देवता ने बदली अपनी चाल, जानें सभी राशियों पर कैसा पड़ेगा प्रभाव

Karwa Chauth 2020: करवा चौथ पर ऐसे मांग में सिंदूर लगाना पड़ सकता है भारी, जीवन पर आ सकता है संकट