Vivah Panchami 2020: हिंदू धर्म में विवाह पंचमी के व्रत का विशेष महत्व हैं. इस वर्ष विवाह पंचमी का त्योहार 19 दिसंबर 2020 को मनाया जाएगा. इस दिन मार्गशीर्ष मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी है. इस पंचमी को विवाह पंचमी के नाम से भी जाना जाता है. पौराणिक मान्यता के आधार पर ऐसा माना जाता है कि इस पंचमी की तिथि को ही भगवान श्रीराम और माता सीता का विवाह संपंन हुआ था.

बता दें कि जिन लड़कियों की शादी में किसी भी प्रकार की दिक्कत आ रही हैं तो उन्हें विवाह पंचमी का व्रत रखने को कहा जाता है. विवाह पंचमी का व्रत रखकर विधि पूर्वक पूजा करने से विवाह संबंधी दिक्कतें दूर होती हैं और मनचाहे वर की प्राप्ति होती है. इस बार खरमास में विवाह पंचमी का व्रत पड़ रहा है. खरमास में भगवान विष्णु की पूजा लाभकारी मानी गई है. भगवान राम भगवान विष्णु का अवतार हैं. ऐसे में इस दिन की पूजा का विशेष महत्व है.

हिंदू कैलेंडर के अनुसार मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को शुभ योग का निर्माण हो रहा है. इस दिन चंद्रमा मकर राशि से कुंभ राशि में गोचर करेगा और घनिष्ठा नक्षत्र रहेगा. इस दिन वर्धमान नाम का शुभ योग बन रहा है.

विवाह पंचमी के दिन सुबह स्नान करने के बात व्रत का संकल्प लेना चाहिए. इस दिन भगवान श्रीराम और माता सीता का विवाह करवाना चाहिए. विवाह पंचमी पर राम भजन करना चाहिए और रामचरित मानस का पाठ करना चाहिए. ऐसा करने से सभी प्रकार की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

Vastu Tips: घर के मुख्य दरवाजे के सामने न रखें ये चीजें, हो सकता है विनाश

Mokshada Ekadashi 2020 Date: इस दिन होगी मोक्षदा एकादशी, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर