Vastu Tips: हिंदू धर्म में वास्तु शास्त्र और उसमे दिए गए सुझावा का महत्वपूर्ण स्थान है. आर्थिक उन्नति प्राप्त करना हर व्यक्ति के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है. अगर आपके घर में हमेशा पैसों की परेशानी रहती है, तो इसके लिए काफी हद तक वास्तु दोष को जिम्मेदार माना जा सकता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर घर में सामान उपयुक्त दिशाओं के अनुसार नहीं रखा जाता तो इससे पैसे के आगमन में बाधा होती है. इस आर्टिकल में हम वास्तु के ऐसे नियमों के बारे में बताने जा रही है.

आर्थिक तंगी दूर करने के लिए अपनाए ये वास्तु नियम

वास्तु शास्त्र के अनुसार हल्के फर्नीचर को हमेशा उत्तर या पूर्व दिशा में रखना चाहिए. भारी फर्नीचर को दक्षिण या पश्चिम दिशा में रखना सबसे अच्छा रहता है. इसके अलावा फर्नीचर के लिए खरीदी गई लकड़ी के लिए उत्तर दिशा, पूर्व दिशा या उत्तर पूर्व दिशा के कोने का चुनाव करना चाहिए.

वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आपके घर या दुकान में सीढ़ियां बनी हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि सीढ़ियों की संख्या विषम होनी चाहिए.

घर या दुकान में अलमारी और तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा में होना चाहिए. इससे धन में वृद्धि होती है. साथ ही खर्च भी कम होता है.

अगर घर के नल से पानी टपकता है तो इसे खर्चा का कारण माना जाता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार नल से पानी टपकने का मतलब धन का भी पानी की तरह ही बहना माना जाता है.

व्यक्ति को घर में टूटे हुए बर्तन नहीं रखना चाहिए. वास्तु के अनुसार टूटे हुए बर्तन नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाते हैं. साथ ही इससे घर की आर्तिक स्थिति भी खराब होती है.

घर के मुख्य द्वार से ही सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जाओं के प्रवेश का आदान प्रदान शुरू हो जाता है.

घर में पेड़ पौथे लगाने से सकारात्मक ऊर्जा को स्थान मिलता है. साथ ही पेड़ पौधों के फलीभूत और हर भरा होने से आर्थिक स्थित मजबूत होती है.

आर्थिक स्थिति को अच्छा करने के लिए घर की उत्तर दिशा मे वाटर फॉल लगाया जा सकता है.

Vaikuntha Chaturdashi 2020: जानिए बैकुंठ चतुर्दशी का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

Dev Uthani Ekadashi 2020: देवउठनी एकादशी के दिन जागते हैं भगवान विष्णु, आज के दिन होती हैं हर मनोकामनाएं पूर्ण