कटरा: कोरोना काल की वजह से मां वैष्णो देवी के दर्शन ना कर पाने वाले श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी है. श्री माता वैष्णो देवी बोर्ड ने एलान किया है कि अब हर रोज सात हजार लोग माता वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए जा सकेंगे. इसके लिए आपको अंर्तराज्जीय पास बनवाने की भी जरूरत नहीं होगी. कोरोना काल में माता वैष्णो देवी का भवन सिर्फ जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए खोला गया था. ऐसा इसलिए ताकि दूसरे राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं के जरिए कटरा और माता के भवन तक कोरोना ना पहुंच जाए. लेकिन अब अनलॉक की प्रक्रिया के तहत माता वैष्णो देवी का भवन श्रद्धालुओं के लिए खोला जा रहा है. हालांकि इस दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके इसलिए एक दिन में सात हजार श्रद्धालुओं को ही दर्शनों की अनुमति होगी.

जम्मू-कश्मीर सरकार के सचिव सिमरनदीप सिंह ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र शासित प्रदेशों में सिनेमा हॉल, बार, कोचिंग सेंटर आदि को खोलने की इजाजत दे दी गई है. कुछ कल से खुलेंगे और कुछ 15 अक्टूबर के बाद खोले जाएंगे. इसलिए अब माता वैष्णो देवी के दर्शनों को जाने वाले लोगों की संख्या को 5 हजार से बढ़ाकर सात हजार प्रतिदिन किया जा रहा है.

पत्रकारों ने उनसे सवाल पूछा कि कितने लोग जम्मू-कश्मीर से और कितने लोग दूसरे राज्यों से प्रतिदिन माता जी के दर्शन कर सकेंगे? जवाब में सिमरनदीप सिंह ने कहा कि ये माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीईओ को तय करना है कि कितने श्रद्धालु जम्मू-कश्मीर से और कितने श्रद्धालुओ दूसरे राज्यों के प्रति दिन माता वैष्णो देवी के दर्शन कर सकेंगे. हालांकि उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि अब अंतर्राज्यीय यात्रा या दूसरे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से आने वाले यात्रियों को पास लेने की जरूरत नहीं होगी.

School Reopen: जानें स्कूल कैसे और कितनी शिफ्ट में खुलेंगे, राज्यों को मिला ये अधिकार

Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव से पहले एनडीए को बड़ा झटका, जेडीयू के खिलाफ सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी लोजपा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर