नई दिल्ली. इस साल 22 नवंबर को मनाया जाएगा उत्पन्ना एकादशी यानि आज. उत्तर भारत में मार्गशीर्ष के कृष्ण पक्ष को एकादशी के दिन उतपन्न एकादशी त्योहार के रूप में मनाया जाता है. उत्पना एकादशी 22 नवंबर को दिन शुक्रवार को मनाया जाएगा. आखिर इस त्योहार को कृष्ण पक्ष के एकादशी के दिन क्यों मनाते हैं. मान्यता है कि इस दिन एकादशी माता का जन्म हुआ था और इस दिन भागवान विष्णु की पूजा- अर्चना होती है. जो मनुष्य भागवान विष्णु की पूजा करता है और एकादशी के दिन व्रत करने से उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है.

आइए जानते हैं उत्पन्ना एकादशी की पूजा विधि-
1. उत्पन्ना एकादशी के दिन सुबह उठकर स्नान करने के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण कर भगवान श्रीकृष्ण का स्मरण करने के साथ पूरे घर नें गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए.
2. उतपन्ना एकादशी के दिन विध्नहर्ता भगवान गणेश और भगवान श्रीकृष्ण की तस्वीर को सामने रख कर पूजा करें
3. उतपन्ना एकादसी के दिन भगवान गणेश जी को तुलसी की पत्तियां चढ़ाए.
4. उत्पन्ना एकादशी के दिन भगवान विष्णु जी को धूप दिखाकर फिर रोली और अक्षत अर्पित करें
5. उत्पन्ना एकादशी के दिन पाठ करने के बाद एकादशी व्रत कथा को सुनना चाहिए. इसके बाद ही आरती करके प्रसाद चढाएं.
6. उत्पन्ना एकादशी के दिन अगले दिन सूर्योदय के बाद खोलना चाहिए.
7. उत्पन्ना एकादशी के दिन अन्न का ग्रहण बिल्कुल ना करें
8. उत्पन्ना एकादशी के दिन अपने आस-पास के गरीब लोगों के बीच दान करना चाहिए

हिन्दू धर्म के मानने वालों के बीच उत्पन्ना एकादशी का बहुत महत्व है. पौराणिक कथाओं के मुताबिक उत्पन्ना एकादशी की व्रत करने से मनुष्य के सारें पापों की माफी मिल जाती है. जो लोग उत्पन्ना एकादशी का व्रत करने के लिए इच्छुक हैं उन्हें एकादशी के दिन से ही व्रत की शुरूआत करनी चाहिए. बता दें कि एक साल में 24 एकादशियं पड़ती है. और एक महीने में दो एकादशी आती है. यह त्योहार श्री हरि विष्णु की मुर राक्षस पर जीत की खुशी में मनाते हैं. उत्पन्ना एकादशी के दिन भगवान विष्णु और माता एकादशी की पूजा- अर्चना किया जाता है.

Also Read- Horoscope Today Friday 22 November 2019 in Hindi: वृश्चिक राशि के कारोबारियों को होगा बंपर लाभ

Horoscope Today Thursday 21 November 2019 in Hindi: मिथुन राशि के लोगों को होगा बंपर धन लाभ

Mata Vaishno Devi: माता वैष्णो देवी के दर्शन को जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी, अर्धकुंवारी से मिलने वाली बैटरी कारों में होगा जीपीएस, नहीं मांग सकेंगे ज्यादा किराया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App