नई दिल्लीः आज का राशिफल, 4 सितंबर 2018: भाद्रपद कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि है. इसके अलावा आज मंगलवार का दिन और मृगशिरा नक्षत्र है. मृगशिरा नक्षत्र और वज्र का योग भी बन रहा है. मंगल दोनों के स्वामी हैं. ऐसे में एक साथ कई मिलन होने से आज का दिन खास हो गया है. आज का दिन काफी शुभ रहने वाला है. हम बता रहे हैं मेष, वृषभ, मिथुन, सिंह, कन्या, कर्क, वृश्चिक, कुंभ और मीन समेत सभी राशियों के जातकों का दिन आज कैसा रहेगा.

मेष: (च, चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)
मंगल मेष राशि वाले लोगों के दसवें स्थान पर गोचर कर रहे हैं. यह स्थान राज्य और पिता का होता है. मंगल के गोचर से आपकी मेहनत रंग लाएगी और करियर ऊंचाइयों पर जाएगा. मंगलवार, मृगशिरा नक्षत्र और वज्र योग के शुभ संयोग में आप ध्यान रखें कि उबलता दूध बर्तन से बाहर न निकले. किसी दृष्टिहीन की मदद करें आपको आपकी मेहनत का फल अवश्य मिलेगा.

वृषभ: (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो ब )
वृशभ राशि वाले लोगों के नवें स्थान पर मंगल गोचर कर रहे हैं. यह भाग्य का स्थान है. इससे भाग्य में वृद्धि होगी. आज के दिन आप जो भी काम करेंगे उसमें सफलता मिलेगी. अपने भाईयों का सम्मान करें, उनकी पत्नी यानि अपनी भाभी को कुछ गिफ्ट देकर उनका आशीर्वाद लें. भाग्य आपका साथ देगा.

मिथुन:(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को )
मिथुन राशि वाले लोगों के आठवें स्थान पर मंगल गोचर कर रहे हैं. इसका संबंध आयु से है. मंगल के इस गोचर से आपका स्वास्थ्य ठीक रहेगा. अपने खानपान पर ध्यान रखें. कुत्ते को रोटी डालें, स्वास्थ्य उत्तम रहेगा.

कर्क:( ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)
मंगल कर्क राशि के सातवें स्थान पर गोचर कर रहे हैं. इसका संबंध जीवनसाथी से होता है. मंगल के इस गोचर से जीवनसाथी के साथ संबंधों पर असर पड़ता है. इससे आपकी जीवनसाथी के साथ नोंकझोंक हो सकती है. रिश्तों की कड़वाहट मिटाने के लिए अपनी बुआ या बहन को तोहफा दें.

सिंह: (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे )
मंगल सिंह राशि के छठे स्थान पर गोचर कर रहे हैं. यह स्थान मित्र और शत्रु का होता है. मंगल के इस गोचर से शत्रु आपसे दोस्ती के लिए हाथ आगे बढ़ा सकते हैं. लेकिन सावधानी बरतने की जरूरत है. शत्रु का यह हाथ आपके खिलाफ साजिश रचने के लिए हो सकता है. इससे बचने के लिए छोटी कन्या को कुछ गिफ्ट दें.

कन्या: (ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)
मंगल कन्या राशि के सातवें स्थान पर गोचर कर रहे हैं. मंगल का यह स्थान इस राशि के लोगों को हर तरह का लाभ दिलाने में मदद करेगा. मंगल के इस स्थान से आपके करियर को एक बेहतर दिशा मिलेगी. गुरू से ज्ञानोपार्जन में पूरी सहायता मिलेगी. दांपत्य जीवन सुखद होगा, संतान सुख मिलेगा. अपने विवेक से नई ऊंचाइयां पाएंगे. रात को अपने सिरहाने पानी रखकर सोएं और सुबह पेड़ की जड़ में डाल दें.

तुला: ( रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
मंगल तुला राशि के चौथे स्थान पर गोचर कर रहे हैं. इसका संबंध जीवन में माता, भूमि, भवन और वाहन सुख से होता है. मंगल के इस स्थान से आपको माता का सुख पाने में परेशानी आएगी. इसके अलावा भूमि-भवन के लाभ के लिए भी कष्ट झेलने पड़ेंगे. मंगल के अशुभ फल से बचने के लिए दूध में थोड़ा मीठा मिलाकर इसे बरगद की जड़ में डालें और उसकी गीली मिट्टी का तिलक लगाएं.

वृश्चिक: (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू )
मंगल वृश्चिक राशि के तीसरे स्थान पर गोचर कर रहे हैं. मंगल के इस स्थान से परिवार में भाई बहनों से अच्छे संबंध बनेंगे. आपकी अभिव्यक्ति की आजादी बनी रहेगी. मंगल का शुभ फल पाने के लिए चॉकलेटी रंग का कपड़ा किसी नाई, कसाई या दर्जी को गिफ्ट करें.

धनु: (ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)
मंगल धनु राशि के दूसरे स्थान पर गोचर कर रहे हैं. इसका संबंध धन से है. आज के दिन मंगल के प्रभाव से धन में बढ़ोत्तरी होगी. धनार्जन के नए स्रोत मिल सकते हैं. धन की बदलती स्थिति का लाभ लेने के लिए धार्मिक कार्यों में सहयोग दें और भाइयों की हर संभव मद करें.

मकर: (भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)
मंगल मकर राशि के पहले स्थान पर गोचर कर रहे हैं. इसका असर आपके दांपत्य जीवन पर पड़ेगा. जीवनसाथी से अनबन के योग हैं. संतान को कोर्ट से लाभ मिलने में परेशानी हो सकती है. मंदिर में बेसन या चने की दाल से बनी कोई चीज दान करें, परेशानियां कम होंगी.

कुंभ: (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)
मंगल कुंभ राशि के बारहवें स्थान पर गोचर कर रहे हैं. यह शैय्या सुख का स्थान है. इससे आपका जीवन सुखद बना रहेगा. अपने ऊपर खुले दिल से खर्च करेंगे. जल में थोड़ा मीठा मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें.

मीन: ( दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)
मंगल मीन राशि के ग्यारहवें स्थान पर गोचर कर रहे हैं. यह आमदनी और कामनापूर्ति का स्थान है. मंगल के इस स्थान से आपको आमदनी के नए स्रोत मिलेंगे. कुत्ते को रोटी डालें. आमदनी के स्रोत बने रहेंगे.

फैमिली गुरु: शनिदेव को प्रसन्न करने वाले 10 अचूक उपाय, सुधरेगी ग्रहों की दशा

गुरु मंत्र: कुंडली के अनुसार देवी-देवाताओं की पूजा-पाठ से मिलेगी सुख-समृद्धि, जरूर करें ये उपाय

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App