Surya Grahan December 2019: साल 2019 का आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को पड़ने जा रहा है. 26 दिसंबर को पड़ने वाला सूर्य ग्रहण वैज्ञानिक दृष्टि से एक वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा. यहां वलयाकार से मतलब ये है कि ग्रहण के दौरान सूर्य आग से भरी एक अंगूठी की तरह नजर आएगा. इस सूर्य ग्रहण की खास बात यह है कि इसे भारत में भी देखा जा सकेगा. सूर्य ग्रहण की घटना अमावस्या के दिन ही घटित होती है. जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के बीच आ जाता है तब धरती पर सूर्य ग्रहण का नजारा देखने को मिलता है.

26 दिसंबर को लगने वाला सूर्य ग्रहण कंकड़ा कृति सूर्य ग्रहण होगा. भारतीय समय के मुताबिक सूर्य ग्रहण सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होगा और 10 बजकर 50 मिनट पर खत्म हो जाएगा. इस खण्डग्रास सूर्य ग्रहण की अवधि 2 घंटे 40 मिनट की होगी. सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पहले सूतक काल प्रारंभ हो जाता है. सूतक काल के दौरान मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाते हैं. इसके साथ ही इस दौरान शुभ कार्यों को करने की भी मनाही होती है.

भारत के अलावा 26 दिसंबर 2019 को पड़ने वाला ये सूर्य ग्रहण मंगोलिया, चीन, रूस, जापान, आस्ट्रेलिया के उत्तरी क्षेत्र, तुर्की, पूर्वी अफ्रीका, पूर्वी अरब, हिंद महासागर, इंडोनेशिया, नेपाल, जापान, कोरिया आदि में देखा जा सकेगा. ज्योतिष में सूर्य ग्रहण को अशुभ माना जाता है. सूर्य ग्रहण हर राशि के जातकों पर कुछ न कुछ बुरा प्रभाव डालता है. कई राशियों के लिए यह विनाशकारी भी साबित हो सकता है.

सूर्य ग्रहण का राशियों प्रभाव

मेष राशि- 26 दिसंबर 2019 को पड़ने वाले सूर्य ग्रहण की वजह से मेष राशि के जातकों की परेशानियां बढ़ेंगी. साथ ही उन्हें किसी अपने से धोखा भी मिल सकताहै.

वृष राशि- सूर्य ग्रहण के चलते वृष राशि के जातकों को वाहन चलाते समय सावधानी बरतनी होगा. साथ ही ग्रहण के प्रभाव के चलते आर्थिक स्थिति में सुधार आयेगा.

मिथुन राशि- सूर्य ग्रहण के चलते मिथुन राशि के जातकों को व्यापार में नुकसान होगा. साथ ही राशि के पति-पत्नी को कष्ट भी उठाना पड़ सकता है.

कर्क राशि- कर्क राशि के जातकों के लिए यह सूर्य ग्रहण शुभ रहेगा. इस राशि के जातक अपने शत्रुओं को परास्त करने में सफल होगों और साथ ही उन्हें करियर में उन्नति भी मिलेगी.

सिंह राशि- सूर्य ग्रहण के चलते सिहं राशि के जातकों को अपनी संतान से कष्ट हो सकता है. साथ ही कार्यस्थल पर तनाव का माहौल हो सकता है.

कन्या राशि- ग्रहण के चलते कन्या राशि के जातकों को महिला पक्ष से नुकसान उठाना पड़ सकता है. साथ ही कन्या राशि के लोगों के कर्जों में बढ़ोतरी होगी.

तुला राशि- तुला राशि के जातकों की मान प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी. इसके साथ ही सिरदर्द से परेशानी हो सकती है.

वृश्चिक राशि- वृश्चिक राशि के जातक निवेश करने से बचें. नए काम की शुरुआत कर सकते हैं.

धनु राशि- धनु राशि के जातकों की सेहत खराब हो सकती है.

मकर राशि- सूर्य ग्रहण के चलते मकर राशि के जातकों के खर्चों में बढ़ोतरी होगी.

कुंभ राशि- कुंभ राशि के जातकों को पारिवारिक कलह का सामना करना पड़ सकता है. साथ ही मानसिक तनाव में भी बढ़ोतरी हो सकती हैं.

सूर्य ग्रहण के उपाय

सूर्य ग्रहण के दिन पूजा पाठ, जप, दान आदि करना अच्छा रहेगा. ग्रहण शुरू होने से तीन घड़ी और ग्रहण समाप्त होने के तीन घड़ी बाद तक भोजन नहीं करना चाहिए. सूर्य ग्रहण के बाद स्नान करना चहिए. इस दिन रात्रि को भी गंगा, नदियों और बावड़ियों में स्नान किया जा सकता है.

सूर्य ग्रहण दिसंबर का सूतक काल

सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर 2019 को सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होगा और 10 बजकर 57 मिनट पर खत्म होगा. यानी सूर्य ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 40 मिनट 6 सेकेंड होगी. वहीं ग्रहण का सूतक काल 25 दिसंबर 2019 को शाम 5 बजकर 31 मिनट से शुरू होगा. वहीं शाम 10 बजकर 57 मिनट पर खत्म होगा.

Surya Grahan 2019 Effects in India: 26 दिसंबर को लगने वाला सूर्य ग्रहण 2019 भारत में मचाएगा तबाही, तूफान और भूकंप आने की है संभावना

Chandra Grahan 2020 Date: जानें चंद्र ग्रहण 2020 की तारीख व समय, नये साल में होंगे 4 चंद्र ग्रहण

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App