नई दिल्ली. Surya Grahan 2019 In December India: साल 2019 का तीसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को लगने जा रहा है. सूर्य ग्रहण भारत के अलावा दुनिया के कई अन्य हिस्सों जैसे- पूर्वी यूरोप, उत्तरी-पश्चिम ऑस्ट्रेलिया और पूर्वी अफ्रीका में भी देखा जा सकेगा. धार्मिक मान्यताओं के अनुसारसूर्य ग्रहण लगने से एक दिन पहले ही सूतक लग जाता है. सूतक काल के दौरान हमें कुछा कार्यों से बचना चाहिए. ऐसे में जरूरी है कि आपको पता होना चाहिए कि सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करें क्या ना करें.

सूतक काल सूर्य ग्रहण लगने से पहले ही शुरू हो जाता है. हिन्दू धर्म ग्रंथों में ऐसा कहा गया है कि ग्रहण के दौरान किसी भी शुभ कार्य करने से बचना चाहिए. सूतक काल अशुभ माना जाता है. सूतक काल शुरू होते ही शुभ कार्यों बिल्कुल ना करें. सूतक काल के समय पूजा पाठ करने से बचना चाहिए. घर में किसी भी भोजन को पकाने की भी मनाही होती है, ऐसा माना जाता है कि सूर्य ग्रहण की किरणों से भोजन अशुद्ध हो सकता है. आईए जानते हैं सूर्य ग्रहण के दौरान लगने वाले सूतक काल का समय.

Sutak Kaal Time: सूतक काल का समय

  • सूतक काल शुरू होने का समय- 25 दिसंबर शाम 5.30 बजे से
  • सूतक काल समाप्त होने का समय- 26 दिसंबर सुबह 10.57 बजे से

ये भी पढ़ें: Solar Eclipse 2019 Effects: आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को, जानें बच्चों पर इसका प्रभाव और बचाव का तरीका

Things Not To Do In Sutak Kaal: सूतक काल के समय क्या ना करें

  • सूतक काल के दौरान भगवान की मूर्ति को ना छुएं.
  • घर में किसी भी तरह के पकवान आदि को ना बनाएं और ना ही खाएं.
  • सूतक के दौरान नाखून काटना, तेल लगाना आदि कार्य भूलकर भी न करें.
  • किसी भी श्मशान या सूनसान जगह से गुजरने की मनाही होती है.
  • सूतक काल में तुलसी के पत्तों को ना तोड़े. इस्तेमाल करना है तो तुलसी के पत्तों को सूर्य ग्रहण से पहले ही तोड़कर रख लें.
  • मांस- मदिरा का सेवन ना करें, इससे कई परेशानियां आ सकती हैं.
  • सूतक काल के दौरान मूल-मूत्र, दातों की सफाई और बालों में कंघी भी ना करें.

Things To Do In Sutak Kaal: सूतक काल के समय क्या करें

  • सूर्य ग्रहण खत्म होने के बाद गर्भवती महिलाओं को स्नान अवश्य करना चाहिए.
  • सूतक काल शुरू होने से लेकर समाप्त होने तक अपने ईष्ट देवताओं की आराधना करें.
  • सूतक काल में अपने घर के मंदिर के कपाट बंद कर दें.
  • सूतक काल समाप्त होने पर घर में पीने के पानी को अवश्य बदल दें.
  • सूर्य ग्रहण समाप्त होने के बाद अपने पहने हुए कपड़े किसी निर्धन व्यक्ति को दान में दें.
  • ऐसा अगर नहीं कर सकते हैं तो किसी सुरक्षित जगह पर रख दें.

Surya Grahan 2019 Benefits in Hindi: 26 दिसंबर को आखिरी सूर्य ग्रहण पर इन उपायों को करके ऐसे उठाएं लाभ 

Solar Eclipse 2019 December LIVE Streaming: यहां देखें सूर्य ग्रहण 2019 दिसंबर का लाइव प्रसारण, जानें तारीख व समय 

Utpanna Ekadashi 2019: आज मनाया जाएगा उत्पन्ना एकादशी, जानिए पूजा विधि के बारे में और क्या-क्या हैं इस पूजा के लाभ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App