नई दिल्ली: इस वर्ष का दूसरा ग्रहण 15 दिन के अंदर ही 16 फ़रवरी को लगेगा. 15 फरवरी 2018 को होने वाला यह सूर्य ग्रहण आंशिक सूर्यग्रहण है. यह ग्रहण दक्षिणी अमेरिका, प्रशांत महासागर, आर्जेंटीना , चिली, ब्राजील और अंटार्कटिका आदि देशों में दिखाई देगा. हालांकि भारत में इस ग्रहण को देख पाना मुमकिन नहीं होगा. इस मामले में ज्योतिषों की माने तो साल 2018 में 3 बार सूर्य ग्रहण लग सकता है. भारतीय समय अनुसार यह ग्रहण 16 फ़रवरी को 12:25 am पर शुरू होगा एवं इसका मोक्ष काल प्रातः 4 बजे होगा. आज हम आपको बता रहे हैं कि इस साल लगने वाले सूर्य ग्रहण भारत और किन देशों में इसे देखा जा सकता है.

मिली जानकारी के मुताबिक, साल 2018 में सूर्य ग्रहण लगने के तीन बार योग बन रहे हैं. हालांकि माना जा रहा है कि तीनों ग्रहण आंशिक ही होंगे और इन्हें ज्यादा देशों और शहरों में नहीं देखा जा सकेगा. फरवरी की 15 तारीख से शुरू होने वाला सूर्य ग्रहण साल के जुलाई माह की 13 तारीख को होगा. इसके बाद साल 2018 का अंतिम सूर्य ग्रहण 11 अगस्त को होगा. हालांकि, सभी तीनों ग्रहण इस बार भारत में नहीं देखे जा सकेंगे क्योंकि तीनों ग्रहण आंशिक हैं. इसीलिए इन्हें पूरी दुनिया में एक साथ नहीं देखा जा सकता है.

आपको बता दें कि आंशिक सूर्य ग्रहण खंड सूर्य ग्रहण के नाम से भी जाना जाता है. यह ग्रहण उस समय होता है जिस वक्त चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह से ढ़क नहीं पाता है जिसकी वजह से दुनिया के कई हिस्सों में सूर्य की रोशनी बरकरार रहती है. इसे आंशिक सूर्य ग्रहण कहा जाता है. दुनिया में ज्यादातर आंशिक या खंड सूर्यग्रहण ही होता है.

Surya Grahan 2018: सूर्यग्रहण के समय बच्चे और गर्भवती महिलाएं खास तौर पर ना जाएं घर से बाहर

Surya Grahan 2018: सूर्यग्रहण के समय भूलकर भी न करें ये काम, होगा अशुभ