नई दिल्ली: साल 2018 का पहला सूर्य ग्रहण 15 फरवरी 2018 को होगा. बता दें कि जनवरी 2018 में आए चंद्र ग्रहण के बाद अमावस्या को सूर्य ग्रहण पड़ेगा. आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि यह ग्रहण आंशिक है, जी हां, इसे सब जगह नहीं देखा जाएगा. दक्षिणी अमेरिका, उरुग्वे और ब्राजील में ही ग्रहण को देखा जा सकेगा. सूर्य ग्रहण के बाद स्नान कर के सबसे पहले पूजा कर घर को शुद्ध किया जाता है उसके बाद ही घर में भोजन पकाया जाता है.

क्या है ग्रहण का समय?

भारतीय समय अनुसार, ग्रहण 15 फरवरी रात 12 बजकर 25 मिनट पर शुरू होगा और सुबह 4 बजे इसका मोक्ष होगा. बता दें कि इस साल तीन सूर्य ग्रर्हण आएंगे, बता दें कि ग्रहण का प्रभाव सीधा लोगों के जीवन पर पड़ता है, ऐसा कहा जाता है कि ग्रहण के दौरान अगर सावधानी न बरती जाए तो अशुभ प्रभाव देखने को मिलते हैं. सूर्य ग्रहण का असर राशियों पर भी पड़ता है. साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि Surya Grahan 2018 भारत में दिखाई नहीं देगा.

सूर्य ग्रहण के दौरान इन बातों का रखें विशेष ध्यान

  1. पहली बात जो आपको ध्यान में रखनी चाहिए वह ये है कि इस दिन कोई भी शुभ काम न करें.
  2. सूर्य ग्रहण के बाद जरूरतमंदों को अन्न या अपनी बजट अनुसार दान आदि करें.
  3. सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिला, बच्चों और बुजुर्गों को घर से बाहर नहीं जाना चाहिए. घर में रहकर उन्हें भगवान की आराधना करनी चाहिए.
  4. एक बात और जो आप लोगों को ध्यान में रखनी है और वह ये है कि ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को सिलाई, कढ़ाई, काटने और छीलने जैसे कार्यों को करने से बचना चाहिए.

Mahashivratri 2018: महाशिवरात्रि पर बन रहा है महासंयोग, करें ये एक काम मिलेगा कई व्रतों के पुण्य का फल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App