नई दिल्ली. रविवार के दिन सूर्य भगवान की पूजा अराधना की जाती है. इसके साथ ही सूर्य देव अर्घ्य दिया जाता है. सूर्य देव को यश और वैभव का देवता माना गया है. कहा जाता है कि अगर सूर्य भगवान की कृपा भक्त के ऊपर बरस जाए तो उसके जीवन के सभी संकट दूर हो जाते हैं. अगर किसी व्यक्ति के मन में कुछ इच्छाएं हैं तो वे सभी रविवार के दिन सूर्य भगवान के नाम का व्रत करने से पूरे हो जाती हैं. हालांकि इस दिन पूजन से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना काफी जरूरी है.

रविवार के दिन सूर्य के उगने से पहले जरूर स्नान कर लें. जिसके बाद सूर्यानारायण को तीन बार अर्घ्य दें. शाम के समय एक बार फिर सूर्य देव को अर्घ्य देकर प्रणाम करें. श्रद्धापूर्वक सूर्य के मंत्रों का जाप करें. आदित्य हृदय का नियमित रूप से पाठ करें. वहीं रविवार के दिन नमक, तेल खाने से बचें. इसके साथ ही रविवार के दिन एक बार फलहाल जरूर करें. अब आपको बताते हैं सूर्य देव को कैसे दें अर्घ्य.

धार्मिक ग्रथों को अनुसार, सूर्य भगवान को अर्घ्य देने का विशेष रूप से महत्व बताया गया है. सूर्य अर्घ्य देने से पहले तांबे के लौटे में जल भरें. ध्यान रखें कि लौटा सिर्फ तांबे का हो. इसके बाद लौटे में लाल फूल, चावल डालकर सूर्य देव के मंत्र का जाप करें. अगर आप ऐसा प्रत्येक दिन करते हैं तो और ज्यादा बेहतर होगा. कहा जात है कि अर्घ्य देने से सूर्य देव भक्त से प्रसन्न होकर उसे आरोग्य, धन, धान्य, पुत्र, यश, विद्या, वैभव, आयु और सौभाग्य प्राप्त करते हैं.

Hanuman Chalisa Earth to Sun Distance: हनुमान चालीसा के इन 5 शब्दों में तुलसीदास ने बता दी थी धरती से सूर्य की दूरी

Buri Nazar ke Totke: बच्चों को बुरी नजर से बचाने के लिए करें ये टोटके, इस बात का रखें खास ध्यान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App