नई दिल्ली. शिव भगवान की पूजा अराधना सोमवार के दिन की जाती है. मान्यता है कि अगर भक्तों के जीवन में किसी भी तरह की परेशानियां चल रही हैं तो उन्हें भोलेनाथ की सच्चे दिल से अराधना करनी चाहिए. ऐसा करने से उस व्यक्ति के जीवन की सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं और शुभ फल की प्राप्ति होती है.

काफी लोग भगवान शिव के नाम का व्रत भी करते हैं. इसी वजह से कहा जाता है कि सोमवार के दिन शिव जी का पूजन विधि अनुसार करनी चाहिए. इससे शिव शंकर भगवान प्रसन्न होते हैं जानिए सोमवार की पूजा विधि.

शिव जी की सोमवार पूजा के लिए जरूरी सामग्री

सोमवार की सुबह सबसे पहले स्नान करने के बाद शिव पूजन की तैयारी करें. पूजा के लिए तांबे का लौटा, तांबे का बर्तन, वस्त्र अर्पित करने वाले, अष्टगंध, चावल, दीप, तेल, रुई, धूपबत्ती, धतूरा, अकुआ के फूल, बिल्वपत्र, फल, जनेऊ, मिठाई, पंचामृत, पान और दक्षिणा इकट्ठा कर लें.

शिवन जी की सोमवार पूजा विधि

सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा के लिए सबसे पहले स्नान करें जिसके बाद शुद्ध वस्त्र कपड़े पहनकर शिव भगवान का पंचोपचार अथवा पोडषोचार पूजा करें. इस दौरान किसी भी तरह अन्न से निर्मित चीजों का सेवन न करें. इसके साथ ही कॉफी, चाय आदि पर पूरी तरह नियत्रंण रखकर ॐ नम: शिवाय का जाप करते रहें.

पूजा के दौरान खासतौर पर ख्याल रखें कि शिव शंकर भोलेनाथ की पूजा करते समय उनका चेहरा उत्तर की ओर रखें क्योंकि पूर्व में उनका मुख, पश्चिम में पृष्ठ भाग और दक्षिण वाम भाग कहा जाता है. शिव भगवान के पूजन से पहले मस्तक पर भस्म या चंदन का त्रिपुंड जरूर लगाएं. पूजन से पहले पवित्र शिवलिंग पर जो भी चढ़ा है उसे अच्छे से साफ कर दें. शिव चालिसा, शिव स्तोत्र, शिव तांडव, शिव महिम और शिव भजन का श्रद्धापूर्वक वाचन पूरा करें.

Ravivar ke Totke: रविवार के ये असरदार उपाय चमका देंगे भाग्य, दूर होंगे संकट, होगी धन की बारिश

December Monthly Horoscope 2019: कैसा बीतेगा साल का आखिरी महीना, किस राशि के लोगों का चमकेगा भाग्य, पढ़िए दिसंबर 2019 राशिफल