नई दिल्ली: मानव समाज में ग्रहण को लेकर कई तरह की मान्यताएं और विश्वास फैला हुआ है. अब साल का दूसरा सूर्य ग्रहण लगने वाला है. यह सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर 2020 को लगेगा. यह सूर्य ग्रहण साल का आखिरी सूर्य ग्रहण होगा, इससे पहले साल का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 को लगा था. बताते चले कि इस साल में कुल छह ग्रहण लगने हैं जिनमें से चार चंद्र ग्रहण और दो सूर्य ग्रहण हैं. माना जाता है कि सूर्य ग्रहण का प्रभाव हमारी राशियों पर पड़ता है. जिसके चलते मानव जीवन प्रभावित होता है. भारत में यह सूर्यग्रहण 14 दिसंबर 2020 की शाम को 07:03 बजे शुरू हो जाएगा और सूर्यग्रहण की समाप्ति 14 दिसंबर 2020 की मध्यरात्रि उपरान्त यानि 15 दिसंबर 2020 की 12:23 बजे पर होगी. इस सूर्यग्रहण लगभग पांच घंटे का होगा.

कहां दिखाई देगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण

14 दिसंबर 2020 का दूसरा सूर्य ग्रहण मार्गशीर्ष माह की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को लगेगा. यह सूर्य ग्रहण खंड ग्रास सूर्य ग्रहण होगा, जिसके चलते यह कुछ जगहों पर आंशिक रूप में दिखाई देगा. यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा. हालांकि ये सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका, साउथ अफ्रीका और प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में नजर आएगा. भारत में इस सूर्य ग्रहण के न दिखने के कारण सूतककाल भी मान्य नहीं होगा और वो दिन भी आम दिनों जैसा ही होगा.

सूर्य ग्रहण के दौरान रखें इन बातों का ध्यान

शास्‍त्रों में बताया गया है कि सूर्यग्रहण के दौरान बहुत से कार्यों को करने से बचना चहिए. जिससे हमारे जीवन और राशि पर ग्रहण का प्रभाव न पड़ सके. खासकर गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत से नियम मान्य होते हैं. उन्हें घर से बाहर नहीं निकलना चहिए साथ ही ग्रहण के समय भगवान का नाम, जाप और ध्यान करना चहिए. शास्‍त्रों में सूर्यग्रहण के वक्‍त सोने की भी मनाही होती है. मान्‍यत है कि ग्रहण के वक्‍त जो व्‍यक्ति सोता है, उसके शरीर के रोग और बढ़ जाते हैं. सूर्य ग्रहण के दौरान मंदिर औप पूजा स्थान को बंद कर देना चहिए.

Child Hair Cut Video: बच्चे ने कटिंग करवाते हुए दी नाई को धमकी, क्यूट वीडियो इंटरनेट पर वायरल

Dev Diwali 2020 : काशी में आज भी देवी- देवता मनाते हैं दिवाली, जनिए देव दीपावली का शुभ मुहूर्त और महत्व

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर