नई दिल्ली. Sheetala Saptami 2019: पावन पर्व होली के सात दिन के बाद आने वाली शीतला सप्तमी आज देशभर में मनाई जा रही है. शीतला सप्तमी हिंदू धर्म का पर्व है, जिस पर मां भगवती के रुप माता शीतला की आराधना की जाती है. शीतला सप्तमी को बासौड़ा भी कहा जाता है. क्योंकि ऐसा माना जाता है कि शीतला सप्तमी के दिन बांसी भोजन का सेवन करने की परंपरा है, इस शुभ अवसर के बाद बांसी भोजन नहीं खाया जाता है. यही कारण है कि शीतला सप्तमी को बसौड़ा के नाम से भी जाना जाता है.

इस बीच आज हम आपको बताएंगे कि शीतला सप्तमी के इस खास दिन पर कौन-कौन से ऐसे असरदार उपाय हैं, जिसके माध्यम से आपको हर कार्य और क्षेत्र में सफलता की प्राप्ती होगी और मां शीतला की दया-दृष्टि आप पर बनी रहेगी. जिससे आपका घर संसार खुशियों में भरा रहेगा.

अगर आप किसी भी प्रकार से आंखों की समस्या और बुखार जैसी बीमारियों से जूझ रहे हैं तो शीतला सप्तमी के दिन आपको मां शीतला के मंत्र-

शीतले ज्वर दग्धस्य पूति गन्ध युतस्य च!
प्रणष्ट चक्षुष: पुंस स्त्वाम आहुर्जीवन औषधम्!!

का 11 बार जप करना होगा, जिसकी बदौलत आपको ऐसी समस्यों से आसानी से छुटकारा मिल जाएगा.

इसके दूसरी ओर अगर आप अपने जीवन में हर क्षेत्र में तरक्की और लाभ की कामना रखते हैं तो ऐसे में आपको बासौड़ा के दिन माता शीतला को 5 सफेद कौड़िया अर्पित करनी पड़ेगी. वहीं मां शीतला के ऊं हृीं श्रीं शीतलायै नम:! मंत्र का 108 बार उच्चारण करते रहें. जिससे आपको हर कार्य में लाभ और कामयाबी की प्राप्ती होगी.

अगर आप अपने सम्पूर्ण परिवार को स्वस्थ देखना और उन पर माता शीतला की कृपा-दृष्टि कायम रखना चाहते हैं तो आपको शीतला सप्तमी के खास मौके पर किसी रास्ते के पत्थर को माता शीतला का स्वरुप मानकर उसकी सफाई करने के साथ पानी से धोने के बाद मां शीतला के मंत्र-

शीतले त्वं जगन्माता शीतले त्वं जगत्पिता!
शीतले त्वं जगद्धात्री शीतलायै नमो नम:!!

का जप करते हुए माता की पूजा-अर्चना करनी चाहिए. इस उपाय से मां शीतला की दया-दृष्टि आपके परिवार पर बनी रहेगी. आपको बता दें कि इस बार शीतला सप्तमी का शुभ मुहूर्त बुधवार 27 मार्च सुबह 6 बजकर 28 मिनट से शुरु होकर शाम 6 बजकर 37 मिनट तक होगा. 

Sheetala Saptami 2019: शीतला सप्तमी पर माता शीतला को कैसे करें खुश, जानिए पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

Chaitra Navratri 2019 Ghatasthapana muhurat: 6 अप्रैल से चैत्र नवरात्र शुरू, जानें घठ स्थापना मुहूर्त और पूजा विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App