Shardiya Navratri 2020: नवरात्रि के दौरान हमें पूरे विधि-विधान से मां दुर्गा की अराधना करनी चाहिए. और मां से अपने परिवार की सुख-समृद्धि की कामना करनी चाहिए. मातारानी की कृपा असीम होती है. जो किसी ना किसी रूप में उनके भक्तों पर बरसती रहती है. तो आइए आप भी जानें नवरात्रि में मां को प्रसन्न करने के लिए नौ दिन के लिए नौ मंत्रों का जाप करना चाहिए. जिससे मातारानी की कृपा आप और आपके परिवार पर बरसती रहे. क्योंकि नौ दिन में मां के नौ रूपों की पूजा की जाती है. और मां के जिन रूपों की पूजा की जाती है हमें उसी मंत्र का जाप उस दिन करना चाहिए.

प्रतिपदा तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं शैलपुत्र्यै नम:.

द्वितीया तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं ब्रह्मचारिण्यै नम:.

तृतीय तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चन्द्रघंटायै नम:.

चतुर्थी तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कूष्मांडायै नम:.

पंचमी तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं स्कंदमातायै नम:.

षष्ठी तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कात्यायनायै नम:.

सप्तमी तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कालरात्र्यै नम:.

अष्टमी तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं महागौर्ये नम:.

नवमी तिथि का मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं सिद्धिदात्यै नम:.

नवरात्रि के दौरान हमें माता का 16 श्रृंगार करके प्रतिदिन विधि-विधान से पूजन करना चाहिए. शारदीय नवरात्र में शक्ति स्वरूपा मां जगदम्बा की पूजा का कारण यह है कि पौराणिक काल में असुरों ने तपस्या करके ब्रह्मा जी से वरदान मांगा था कि ना तो हम देवताओं के अस्त्र-शस्त्रों से मरें. और ना ही हमें कोई भी देवता और मनुष्य किसी भी प्रकार मार पाएं. ब्रह्मा जी से वरदान पाकर असुर तीन लोकों में अत्याचार करने लगे. तब देवताओं ने ब्रह्मा जी की स्तुति की और असुरों के अत्याचार से बचने का उपाय पूछा. तब ब्रह्मा जी के कहने पर देवताओं ने माता पार्वती की आराधना की.

Navratri 2020 Mantra: नवरात्रि पर मां दुर्गा की पूजा पर पढ़ें ये मंत्र, पूरी होगी मनोकामना, कष्ट से मिलेगी मुक्ति

Vastu Tips: घर में गलत दिशा में लगे पौधे बना सकते हैं आपको कंगाल, इस बात का रखें खास ध्यान

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर