Shardiya Navatri 2020 Kanya Puja: शारदीय नवरात्र में जिन परिवारों में सात दिन व्रत रखा जाता है उन परिवारों में अष्टमी तिथि को पूजन के बाद व्रत खोला जाता है. और जिन परिवारों में आठ दिन तक व्रत रखा जाता है वहां नवमी तिथि को हवन के बाद व्रत का पारण किया जाता है. सप्तमी अथवा अष्टमी को दो दिन व्रत रखा जाता और जिस दिन भी नवरात्रि पूजन का समापन करते हैं उसी दिन व्रत का पारण भी किया जाता है. नवरात्रि व्रत के पारण की तिथि, नवमी तिथि कब है, व्रत पारण का समय क्या रहेगा, कन्या पूजन की विधि क्या है. तो आइए आप भी जानें इस बारे में आवश्यक बातें.

नवरात्रि पारण के दिन कन्या पूजन की विधि कन्या पूजन और भोज के लिए पहले से ही कन्याओं को निमंत्रण दिया जाना चाहिए. कन्या पूजन से पहले सभी कन्याओं के पैरों को दूध और गंगाजल अथवा पानी से भरे थाल में उनके पैरों को धोना चाहिए. और पैर छूकर उनका आशीर्वाद लेना चाहिए. इसके बाद सारी कन्याओं के मस्तक पर अक्षत और कुमकुम कस टीका लगाना चाहिए. इसके बाद अपने मन से माता दुर्गा का स्मरण और ध्यान करते हुए सभी कन्याओं को भोजन कराएं और दक्षिणा देकर उन्हें विदा करें. इसके अलावा नौ कन्याओं के साथ एक बालक भी होना चाहिए. क्योंकि बालक को हनुमान जी रुप माना जाता है.

शारदीय नवरात्रि व्रत पारण की तिथि

25 अक्टूबर 2020, दिन रविवार

नवमी तिथि प्रारम्भ: 24 अक्टूबर 2020, दिन शनिवार, सुबह 06:58 बजे

नवमी तिथि समापन: 25 अक्टूबर 2020, दिन रविवार, सुबह 07:41 बजे

शारदीय नवरात्रि व्रत 2020, पारण का समय

25 अक्टूबर 2020, दिन रविवार सुबह 07:41 बजे के बाद.

Shardiya Navratri Prarambh 2020: शारदीय नवरात्रि पर गृह प्रवेश करने वाले रखें इन बातों का विशेष ध्यान

Karva Chauth 2020 Mang Sindoor: करवा चौथ 2020 पर ऐसे भरें अपनी मांग में सिन्दूर, चमकेगी किस्मत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर