नई दिल्ली. Sharad Purnima 2019: आज यानी रविवार 13 अक्टूबर 2019 को शरद पूर्णिमा मनाई जा रही है. शरद पूर्णिमा की रात अन्य पूनम रात्रि के मुकाबले ज्यादा चमकदार दिखाई देता है. इस दिन चंद्रमा अपनी सभी 16 कलाओं का प्रदर्शन करता है. हर साल आश्विन मास की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा मनाई जाती है. शरद पूर्णिमा के मौके पर चांदनी रात में खीर की तासीर बढ़ जाती है. शरद पूर्णिमा की आधी रात को चंद्रमा के दर्शन करने से आंखों में तेज, मन में शीतलता और जीवन में शांति का अनुभव होता है. इस दिन कई तरह के धार्मिक कार्यक्रम और अनुष्ठान होते हैं.

हिंदू धर्म में पौराणिक मान्यताओं के अनुसार शरद पूर्णिमा की रात में चंद्रमा आसमान से धरती पर अमृत बरसाता है. इस दिन चंद्रमा के प्रकाश का आंखों में अनुभव करने से उम्र लंबी होती है. दिन भर की थकान के बाद शरद पूर्णिमा की चांदनी रात में कुछ पल चांद को निहारने से मन को शीतलता मिलती है और शारीरिक बीमारियां दूर होती हैं. अगर आपको यकीन हो तो आज रात यह करके जरूर देखें.

हिंदू मान्यताओं में शरद पूर्णिमा के दिन व्रत का भी खासा महत्व है. इस दिन व्रत करने से सभी मनोमकामनाएं पूर्ण होती हैं. शरद पूर्णिमा के दिन किए जाने वाले उपवास को कौमुदी व्रत भी कहते हैं. विवाहिता महिलाएं संतान प्राप्ति के लिए और कुंवारी लड़कियां अच्छे वर की प्राप्ति के लिए यह व्रत करती हैं.

हिंदू मान्यताओं के मुताबिक शरद पूर्णिमा की चांदनी रात में खीर की तासिर बढ़ जाती है. इस रात दूध और मेवो से बनी खीर का खास सेवन किया जाता है. शरद पूर्णिमा के दिन खीर का सेवन करने की परंपरा है. इस पूर्णिमा को बनी खीर को अमृत समान माना जाता है.

Also Read ये भी पढ़ें-

शरद पूर्णिमा की रात इन मंत्रों के जाप से बरसता है छप्पर फाड़कर पैसा

शरद पूर्णिमा 2019  जानें शुभ मुहुर्त और पूजा विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App