Shani Dev Upay: शनि देव 29 सितंबर मंगलवार को मार्गी हो रहे हैं. वे इसी वर्ष 11 मई को वक्री हुए थे. ज्योतिष विज्ञान में शनि ग्रह को मकर तथा कुंभ राशि का स्वामित्व प्राप्त है. मेष शनि देव की नीच राशि है तो वहीं तुला राशि में वे उच्च के माने जाते हैं.

शनि की सीधी चाल का प्रभाव सभी राशियों पर शुभ-अशुभ रूप में पड़ेगा. माना जाता है कि जिस व्यक्ति पर शनि की बुरी दृष्टि पड़ जाती है उस जातक के लिए शनि बड़े संकटकारी हो जाते हैं. किंतु ज्योतिष में शनि की बुरे प्रभाव से बचने के लिए उपाय बताए गए हैं. इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही 5 उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनमें किसी एक के भी करने से आपको शनि के बुरे प्रभाव से छुटकारा पा सकेंगे.

शनिदेव के बुरे प्रभाव से बचने के लिए करें ये 5 उपाय-

1. लोहे के बर्तन में सरसो तेल डालकर उसमें अपना चेहरा देखें और उसे किस भिखारी को दान कर दें. जिनकी साढ़ेसाती, ढैय्या या शनि की दशा चल रही है वह शनिवार के दिन मांस-मदिरा के सेवन से बचें. अनैतिक कार्यों से भी बचना चाहिए.

2. ब्रह्म पुराण में बताया गया है शनिदेव कहते हैं कि जो व्यक्ति हर शनिवार के दिन जो व्यक्ति पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेगा उसे मैं कभी नहीं सताऊंगा और उसके सभी कार्य पूर्ण होंगे. इसलिए प्रयास करें कि हर शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष का स्पर्श करें.

3. पीपल के वृक्ष का स्पर्श करके 108 बार ‘ॐ नमः शिवाय’ का जप करने वाले को न सिर्फ शनि ही नहीं बल्कि दूसरे अशुभ ग्रह भी नहीं सताते हैं.

4. काले कपड़े में कपूर लपेटकर शनि महाराज की आरती करें. आरती को सभी कमरे में घुमाएं. इससे घर की सारी नकारात्मक शक्तियां नष्ट हो जाएंगी

5. हर शनिवार के दिन शनि महाराज को काले तिल अर्पित करें. काले तिल का दान भी कर सकते हैं. यह आसान उपाय से आप शनिदेव की कृपा प्राप्त करने में सफल रहेंगे और आपके ऊपर शनि के बुरे प्रभाव का कोई असर नहीं होगा

Chhath Puja 2020: इस दिन होगी नहाय खाय की पूजा 2020, जानें शुभ मुहूर्त, विधि और महत्व

Kanakdhara Mantra: कर्ज से छुटकारा पाने के लिए करें इस मंत्र का जाप, जीवन में आएगी खुशी