नई दिल्ली. हिंदू धर्म में हर दिन का अलग महत्व है. प्रत्येक दिन किसी न किसी भगवान को समर्पित है. भगवान के प्रिय दिन उनकी पूजा करने वालों को लाभ मिलता है और भगवान की कृपा बनी रहती है. जैसे की शनिवार को भगवान शनिदेव की पूजा की जाती है. इस दिन शनि भगवान की पूजा करने से जीवन की परेशानियां दूर होती ही हैं और शनि दोष भी दूर किया जा सकता है.

हिंदु धर्मों के अनुसार शनि दोष किसी व्यक्ति की कुंडली में होता है जिस कारण व्यक्ति के जीवन में परेशानियों का वास हो जाता है. शनिवार के दिन भगवान हनुमान और शनिदेव की पूजा की जाती हैं. माना जाता है कि जिसकी कुंडली में शनि दोष होता है उनसे भगवान शनि रुष्ट होते हैं जिस कारण उनपर शनि देव का प्रकोप भारी पड़ता है. कुंडली में शनिदोष का होना जीवन में कठिनाईयां लेकर ही आता है. हिंदू धर्म में शनिदेव को दंड अधिकारी कहा जाता है. जो भी गलतियां व्यक्ति ने अपने जीवन में की हैं उनका दंड शनि देव देते हैं. लेकिन केवल दंड ही नहीं बल्कि शनि देव अपने भक्तों को प्रसन्न होकर फल भी देते हैं.

शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा करके शनि दोष को दूर किया जा सकता है और भगवान शनि को प्रसन्न किया जा सकता है. इसके लिए शनिवार को शाम को सरसों के तेल का दीया जलाएं. इसे पीपल के पेड़ के नीच रखें. जिनकी कुंडली में शनि दोष है वो भगवान शिव के शस्त्र त्रिशूल को शनिवार के दिन भगवान महादेव या महाकाली के मंदिर में चढ़ाएं. शनिवार को भगवान हनुमान की पूजा भी कि जाती है. भगवान हनुमान के रुप माने जाने वाले बंदरों को गुड़, केला और काले चनों का प्रसाद शनिवार को खिला सकते है.

Horoscope Today Saturday 16 February 2019 In Hindi: आज कन्या राशि के लोगों को होगा बंपर धन लाभ

गुरु मंत्र: नौकरी और कारोबार को शनि के श्रॉप से बचाने के अचूक ज्योतिषिय उपाय जानिए