नई दिल्ली. Sankashti Chaturthi Pooja 2019: होली के पावन पर्व के बाद आज सकट चौथ (संकष्टी चतुर्थी) पूजा का खास दिन है. इस शुभ अवसर को जीवन में किसी भी प्रकार के संकटों से उबरने के लिए मनाया जाता है. संकष्टी चतुर्थी के इस खास पर्व को हिंदू धर्म में बड़ी ही मान्यता के साथ मनाया जाता है. कहा जाता है कि माघ मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को सकट चौथ के रुप में मनाए जाने वाले इस दिन पर भगवान गणेश की पूजा-अर्चना की जाती है. दूसरी ओर हम जानेंगे भगवान गणेश जी को खुश करने के लिए सकट चौथ पर किस पूजा विधि और मंत्रों का प्रयोग करना चाहिए.

गौरतलब है कि संकष्टी चतुर्थी के दिन पर महिलाएं अपने बच्चों की सलामती हेतु पूजा-अर्चना करती हैं. वहीं इस सकट चौथ के पर्व पर महिलाएं निर्जला उपवास भी रखती हैं.

कैसें करें संकष्टी चतुर्थी पर पूजा-
सकंष्टी चतुर्थी (सकट चौथ) के खास दिन पर रात के समय में चंद्र देव को अर्ध्य दिया जाता है. साथ ही भगवान गणेश जी के भालचंद्र स्वरुप की भी पूजा की जाती है.

 

भालचंद्र का तात्पर्य मस्तक पर चंद्रमा का तेज होना. संकष्टी चतुर्थी पर भगवान गणेश की पूजा हेतु प्रसाद के रुप में तिल-गुड़ का लड्डू और शकरकंदी का उपयोग किया जाता है.

 

इसके साथ-साथ ऐसा भी माना जाता है कि इस दिन महिलाएं मिट्टी से बने गौरी, गणेश और चंद्रमा की पूजा भी कि करती हैं. दूसरी तरफ गौरी गणेश और चंद्रमा को भोग लगाने के लिए तिल, गंजी भांटा, गुड़, घी, ईख का इस्तेमाल किया जाता है. बता दें कि चंद्र देव को अर्ध्य देने के बाद भोजन करने के साथ इस व्रत को खोला जाता है.

जानिए संकष्टी चतुर्थी पूजा का मुहूर्त- संकष्टी चतुर्थी (सकट चौथ) का पूजा का शुभ मुहूर्त भारतीय समय के तहत 23 जनवरी को रात 11 बज कर 59 मिनट पर शुरु हुआ है जो 24 जनवरी रात 8 बजकर 53 मिनट तक रहेगा.

संकष्टी चतुर्थी पूजा मंत्र-

गजाननं भूत गणाविद सेविंत, कपित्थ जम्बू फल चारू भक्षणम्
उमासुतं शोक विनाशकारकम्, नमामि विघ्नेश्वर पाद पंकजम् !!

 

Chaitra Navratri 2019 Ghatasthapana muhurat: 6 अप्रैल से चैत्र नवरात्र शुरू, जानें घठ स्थापना मुहूर्त और पूजा विधि

Chaitra Navratri 2019 Date: चैत्र नवरात्रि 2019 में बन रहे कई शुभ संयोग, इस शुभ मुहूर्त पर करें पूजा, ये है घटस्थापना का समय

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App