नई दिल्ली: हिन्दी पंचांग के अनुसार, आज यानी 02 जनवरी 2021 को नए साल की पहली संकष्टी चतुर्थी मनाई जाएगी. इस दिन भगवान गणेश के लिए व्रत रखा जाता है. साथ ही विघ्नहर्ता श्रीगणेश जी की विधि विधान से पूजा की जाती है. लेकिन माना जाता है आज के दिन भगवान गणेश के साथ-साथ भगवान शनिवार जी की भी पूजा करते हैं तो आपके घर में खुशहाली और बढ़ेगी शुख समृर्द्धि का वास होता है. कहा जाता है इस दिन व्रत रखने से मनोकामनाएं भी पूरी होती हैं. आज साल की पहली संकष्टी चतुर्थी मनाई जा रही है, जानिए आज को शुभ मुहूर्त.

संकष्टी चतुर्थी का शुभ मुहूर्त

प्रात: 5 बजकर 25 मिनट से 6 बजकर 20 मिनट तक और
शाम 5 बजकर 36 मिनट से शाम 6 बजकर 58 मिनट तक

संकष्टी चतुर्थी व्रत

हिंदी धर्म के अनुसार, संकष्टी चतुर्थी का अर्थ संकट को दूर करने वाली चतुर्थी है. इस दिन ध्यान लगा कर भगवान गणेश का पूजन करने का विधान है. साथ ही ऐसी भी मान्यता है कि इस दिन भगवान गणेश की पूजा करने से संकट से मुक्ति मिलती है और जीवन खुशहाल होता है. संकष्टी चतुर्थी की पूजा सुबह और शाम दोनों समय में की जाती है. सुबह व्रत का संकल्प लिया जाता है, वहीं शाम को आरती करके व्रत खोला जाता है.

यह उपाय करके भगवान को करें प्रसन्न

इस दिन गणेश जी की पूजा करने से राहु- केतु से उत्पन्न होने वाला दोष भी दूर होते हैं. जिन लोगों को राहु और केतु परेशान कर रहे हैं उन्हें इस दिन भगवान गणेश जी को दूर्वा घास अर्पित करनी चाहिए. ऐसा करने से इन दोनों ग्रहों की अशुभता कम होती है. साथ ही जीवन में आने वाली कठिनाइयों का अभाव भी होता है. इस दिन को विशेष भगवान गणेश का दिन माना जाता है. इसलिए इस भगवान गणेश को पसन्न करने का बहुत बड़ा महत्व माना गया है.

Shukarwar Ke Upay: शुक्रवार के दिन करें ये 5 उपाय, साल भर होगी धन की बरसात

Mokshada Ekadashi 2020: जानिए मोक्षदा एकादशी का शुभ महुर्त,महत्व और पूजाविधि