नई दिल्ली : पंचांग के अनुसार, इस वर्ष 31 जनवरी 2021 को सकट चौथ मनाई जाएगी. सकट चतुर्थी का पर्व भगवान गणेश को समर्पित होता है. इस दिन भगवान गणेश को खुश किया जाता है. यह पर्व उत्तर भारत के कई राज्यों जैसे मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में खासतौर पर मनाया जाता है. इस दिन माता अपनी संतान की सलामती के लिए निर्जला व्रत भी रखती हैं और शाम को गणेश जी की कहानी सुनकर चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत खोलती हैं. इस दिन सकट का अर्थ संकट से होता है इसलिए सकट पर भगवान गणेश जी की विधि पूर्वक पूजा करने से जीवन में आने वाले सभी सकंट को दूर करने में मदद मिलती है.

सकट चौथ 2021 का शुभ मुहूर्त

31 जनवरी 2021 को रात्रि 08 बजकर 24 मिनट से शुरू
1 फरवरी 2021 को शाम 06 बजकर 24 मिनट पर समाप्त

सकट चौथ की पूजा विधि

सकट चौथ के दिन मिट्टी से गणेश जी बनाएं और पूजा करें. इस दिन गणेश जी को पीले वस्त्र पहनाएं. शाम को चंद्रमा को जल देकर व्रत समाप्त करें. तिल और गुड़ का भोग लगाएं. प्रसाद में गुड़ और तिल दें.

सकट चौथ का महत्व

सकट चौथ का दिन भगवान गणेश का दिन बताया जाता है, इस दिन भगवान गणेश का व्रत रखने से जीवन में सुख समृद्धि आती है. वहीं इस व्रत को संतान के लिए श्रेष्ठ माना गया है. मां द्वारा रखा जाने वाला यह व्रत बच्चों की शिक्षा में आने वाली बाधा को भी दूर करता है. साथ ही संतान पर भगवान गणेश की कृपा और आर्शीवाद बना रहता है. सकट के दिन महिलाएं पूजन के समय गणेश मंत्र का जप करती हैं. अगर आप भी अपने जीवन में खुशहाली चहाते हैं तो यह व्रत आपके लिए सर्वोत्तम है.


Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति पर करें खिचड़ी का दान, घर में होगा सुख, समृद्धि का वास

Paush Amavasya 2021 Date: इस दिन पड़ रही है पौष अमावस्या, जानें पूजा महत्व और शुभ मुहूर्त