नई दिल्ली. राधा अष्टमी का व्रत 06 सितंबर 2019 को मनाया जाएगा. हिंदू शास्त्रों के अनुसार इस दिन को राधा रानी के अवतरण दिवस के रूप में मनाया जाता है. माना जाता है कि श्री कृष्ण की भक्ति पाने के लिए राधा जी की कृपा की अत्यंत आवश्यकता है. राधा जी की पूजा के बिना श्री कृष्ण की पूजा अधूरी मानी जाती है. राधा रानी भगवान श्री कृष्ण के प्राणों की अधिष्ठात्री देवी हैं, इसलिए भगवान अनके आधीन रहते हैं. यह संपूर्ण कामनाओं का राधन (साधन) करती हैं. इसी कारण इन्हें श्री राधा कहा जाता है.

मान्यता है कि अगर इस दिन पूरे विधि विधान से राधा जी की पूजा करें और व्रत रखें को भगवान कृष्ण प्रसन्न होकर मनोवांछित फल देते हैं. ऐसे में हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं जिसे राधाष्टमी पर कर सुख समृद्धि प्राप्त कर सकते हैं.

राधा अष्टमी के इन चमतकारी उपाय करने से होगा जीवन खुशहाल- इस दिन पूजा घर में राधा कृष्ण की मूर्ति का श्रृंगार करके भजन और कीर्तन करें. राधा अष्टमी के दिन श्री विष्णुलहस्ननाम का पाठ जरूर करें. आज इस पुस्तक के अकेले पाठ का कोई फल तभी प्राप्त होगा जब इसके साथ में आप श्री सूत्क का भी पाठ करें. ऐसा करने से ही भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी प्रसन्न होंगे. इस दिन गीत का पाठ अवश्य करें. गीता का पाठ करने से जीवन में श्री कृष्ण कृपा प्राप्त होती है. आज के दिन श्रीमद्भागवत को सुनें या पढ़ें तो बेहतर है.

प्रेम, गीत और नृत्य ही राधा कृष्ण की भक्ति प्राप्त करने का सबसे आसान रास्ता माना जाता है. इसलीए भक्ति गीतों को गाइए, झूमिए नाचिए और पूरे वातावरण को कृष्ण भक्ति में रंगिए. आज के दिन दान पुण्य का सबसे अधिक महत्व माना जाता है. आज आप भंडारा करा सकते हैं. किसी गरीब या जरूरतमंद को अनाज, कपड़े आदि दान करें. माना जाता है कि दान पुण्य से कई जन्मों के पापों का नाश होता है और पुण्य मिलता है.

Santoshi Mata Shukravar Puja Vidhi: शुक्रवार को इस विधि से करें मां संतोषी की पूजा और व्रत, जीवन होगा समृद्ध, दूर होंगे संकट

Anant Chaturdashi 2019: अनंत चतुर्दशी के दिन होता है गणपति विजर्सन, जाने कब है अनंत पूजा और पूजा विधी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App