नई दिल्ली. Pitru Paksha Shradh 2019: इस साल पितृ पक्ष श्राद्ध 13 सितंबर से शुरू होकर 28 सितंबर 2019 तक चलेगा. इस दौरान उन सभी लोगों का पिंडदान किया जाता है जो किसी भा माह या तिथि में स्वर्गवासी हुए हों. ऐसा करने से परिवार में सुख, समृद्धि और शांति आती है. कई लोग अपने घरों में ही पूजा पाठ और खाना बनाकर पितरों को भोजन कराते हैं तो कुछ विष्णु नगर गया में जातर अपने पूर्वजों को पिंडदा करते हैं. हिंदू धर्म में पितृ श्राद्ध ऋृण से मुक्ति के लिए श्राद्ध मनाया जाता है. इस ऋृण को चुकाने में कोई भी गलती ना हो इसलिए यहां श्राद्ध के दिन क्या करें और क्या नहीं के बारे में आपको बताने जा रहे हैं.

Pitru Paksha Shradh 2019: पितरों के श्राद्ध के जरूरी नियम-

  1. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, पितर लोक दक्षिण दिशा में होता है. इसलिए पूरी श्राद्ध प्रक्रिया के दौरान आपका मुंह दक्षिय दिशा की ओर होना चाहिए.
  2. पितृ श्राद्ध हमेश दोपहर कते बाद करें जब सूर्य की छाया आगे नहीं पीछे हो. इस बात का जरूर ध्यान रखें कि कभी भी ना सुबह हो और ना ही अंधेरे में श्राद्ध करें.
  3. श्राद्ध पूरे 16 दिन के होते हैं. इस दौरान ब्राह्मणों को भोजन कराकर दान करें, दान पुण्य शुभ माना जाता है.
  4. ब्राह्मणों को लोहे के आसन पर बिठाकर पूजा न करें और ना ही उन्हें केले के पत्ते पर भोजन कराएं.
  5. पिंडदान के समय जनेऊ हमेशा दाएं कंधे पर रखें.
  6. हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि कभी भी स्टील के बर्तन से पिंडदान ना करें, इसकी जगह कांसे तांबे या फिर चांदी की पत्तल का इस्तेमाल करें.
  7. पिंडदान करते दौरान दक्षिण दिशा में ही मुंह रखें.
  8. पिता का श्राद्ध बेटा या बहू को करना चाहिए. ध्यान रखें पोते या पोतियों से पिंडदान ना कराएं.
  9. श्राद्ध करने वाला व्यक्ति श्राद्ध के 16 दिनों तक मन को शांत रखें.
  10. श्राद्ध हमेशा अपने घर या फिर सार्वजनिक भूमि पर ही करें. किसी और के घर पर श्राद्ध ना करें.

Lalbaugcha Raja Ganpati Visarjan: मंदी के बावजूद बाप्पा पर जमकर बरसा श्रद्धालुओं का प्यार, लाल बाग चा राजा के दरबार में चढ़ा 3.84 किलो सोना और 40 किलो चांदी

Cheteshwar Pujara Vasudev Video: टीम इंडिया के क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा पर चढ़ा भक्ति का रंग, वासुदेव अवतार में आए नजर देखें वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App