नई दिल्ली. Navratri Vrat Parna 2019: नौ दिनों तक चलने वाला पवित्र पर्व नवरात्रि अब 7 अक्टूबर को समाप्त हो जाएगा. मां दुर्गा की भक्ति में लीन भक्त नौ दिनों तक व्रत रखने के बाद व्रत पारण करते हैं. कुछ लोग पूरे नौ दिन व्रत रखते हैं तो कई लोग पहले प्रदा और आखिरी दिन रखने के बाद हवन पूजन करने के बाद व्रत को तोड़ते हैं. इस वर्ष महाष्टमी आज यानी कि 6 अक्टूबर और महानवमी 7 अक्टूबर को मनाई जाएगी. हम आपको बता रहें हैं व्रत पारण करने का सही समय.

बता दें कि नवरात्री में मां दुर्गा के 9 रूपों की पूजा की जाती है. अंत में कन्या पूजा के साथ पारण किया जाता है. नवरात्रि के दिनों में व्रत पारण का बहुत महत्व है. भक्त महाष्टमी या फिर महानवमी के हिसाब से व्रत पारण कर सकते हैं. जो लोग पूरे 9 दिन नवरात्रि के व्रत रखते हैं, उन्हें नवमी के दिन घर में कन्या पूजन और हवन करना चाहिए. इसके बाद अगले दिन दशमी तिथि को व्रत पारण किया जाना चाहिए.

इस बार दशमी तिथि 8 अक्टूबर को पड़ रही है. दशमी तिथि के दिन ही दशहरे का पर्व मनाया जाता है और इस बार दशहरा 8 अक्टूबर को पड़ रहा है. दशमी तिथि को व्रत पारण का समय सुबह 9 बज से 11 बजे तक है. इसके अलावा भक्त दोपहर 2.02 बजे से लेकर 2.52 बजे तक भी नवरात्रि व्रत पारण कर सकते हैं.

Also Read: Kanya Pujan 2019: जानिए क्यों किया जाता नवरात्र में कन्या पूजन, क्या है पूजा विधि और कब है शुभ मुहूर्त

महाअष्टमी और महानवमी दोनों दिन कन्या पूजन का बहुत बड़ा महत्व होता है.वहीं महाष्टमी तिथि से व्रत का पारण करने वाले भक्त अब कन्या पूजन के बाद व्रत को खोल सकते हैं. अष्टमी को व्रत रखने वाले भक्तों को अब अगले दिन नवमी को व्रत पारण करना होगा.

Durga Puja Shashthi to Vijayadashami : दुर्गा पूजा के षष्‍ठी से विजयदशमी के खास दिन, जानिए नवरात्र के पांच दिनों के महत्व

Navratri Ashtami 2019 Date: अष्टमी के दिन कैसे करें मां दुर्गा के आठवें स्वरूप महागौरी की पूजा जानिए विधि और महत्व

Vijayadashami 2019: जानिए कब है विजयादशमी और रावण दहन का शुभ मुहूर्त

4 responses to “Navratri Vrat Parna 2019: नवरात्रि में 9 दिनों तक व्रत रखने वाले भक्त यहां जानें पारण करने का समय और तिथि”

  1. नौ दिन का व्रत रखने वाले का पारण कब होगा

  2. jab ye ghadi nahi tha tab samay kaise dete hai? logo ko bewakuf banana band kro. hm aadi kaal se surya ke uday se tithi nirdharit karte aaye hai aur wahi sahi hai. dashmi ke din kabhi bhi kiya jaa skta hai paran.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App