Navratri 2020: हिंदू धर्मशास्त्रों में नवरात्रि के पर्व का महत्वपूर्ण स्थान है. बता दें कि इस समय अधिक मास चल रहा है. अधिकमास लगने के कारण शारदीय नवरात्रि का त्योहार देर से शुरू हो रहा है. हिंदू पंचांग के अनुसार हर वर्ष पितृपक्ष की समाप्ति के बाद अगले ही दिन शारदीय नवरात्रि का पर्व शुरू होता है. इस बार अधिक मास होने के कारण पितरों की विदाई के बाद नवरात्रि का त्योहार शुरू नहीं हो सकेगा. हिंदू धर्मा में नवरात्रि का विशेष महत्व होता है. नवरात्रि के त्योहार में नौ दिनों में मांग दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की विधि विधान से आराधना की जाती है.

नवरात्रि के पहले दिन घट स्थापना के साथ ही नवरात्रि शुरू हो जाती है. साथ ही विभिन्न पंडालों में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर मां शक्ति की आराधना की जाती है. नवरात्रि पर मां दुर्गा के धरती पर आगमन का विशेष महत्व होता है. देवी भावगवत पुराण के अनुसार नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा का आगमन भविष्य में होने वाली घटनाओं के संकेत के रूप में भी देखा जाता है. हर वर्ष नवरात्रि में देवी दुर्गा का आगमन अलग-अलग वाहनों में सवार होकर आती है.

देवीभागवत पुराण के अनुसार अगर नवरात्रि का आरंभ सोमवार या रविवार के दिन होता है तब इसका अर्थ होता है माता हाथी पर सवार होकर आएंगी. वहीं, अगर शनिवार और मंगलवार के दिन नवरात्रि का पहला दिन होता है तो माता घोड़े पर सवार होकर आती हैं. वहीं गुरुवार या शुक्रवार के दिन नवरात्रि आश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि पर मां का आगमन होता तो माता डोली की सवारी करते हुए भक्तों को आशीर्वाद देने आती हैं. बुधवार के दिन नवरात्रि का पहला दिन होने पर माता नाव की सवारी करते हुए धरती पर आती हैं.

इस दिन से शुरू होगा नवरात्रि का त्योहार

इस वर्ष शारदीय नवरात्रि का त्योहार करीब एक महीने की देरी से शनिवार 17 अक्टूबर से आरंभ हो रही हैं. शनिवार के दिन नवरात्रि का पहला दिन होने के कारण इस दिन मां दुर्गा घोड़े की सवारी करते हुए पृथ्वी पर आएंगी. देवी भागवत पुराण के अनुसार जब माता दुर्गा नवरात्रि पर घोड़े की सवारी करते हुए आती है तब पड़ोसी से युद्ध, गृह युद्ध, आंधी तूफान और सत्ता में उथल पुथल जैसी गतिविधियां बढ़ने की संभावना रहती है.

Chhath Puja 2020: इस दिन होगी नहाय खाय की पूजा 2020, जानें शुभ मुहूर्त, विधि और महत्व

Vastu Tips: घर के मंदिर से जुड़ी ये गलतियां पड़ सकती हैं आप पर भारी, इन बातों का रखें ध्यान

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर