नई दिल्ली. छोटी दीपावली को नरक चतुर्दशी के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन भगवान कृष्ण ने राक्षस का वध किया था. हिंदू शास्त्रों के अनुसार जो व्यक्ति पूरे विधानपूर्वक पूजा करता है उसे नर्क निवारण का आशिर्वाद मिलता है. मान्यता है कि इस दिन तेल का दीपक जलाने से नरक की आत्माओं से मुक्ति मिलती है. यह दिन सभी प्रकार के दोषों को मिटाने के लिए सबसे अच्छा दिना माना जाता है. यदि आपके घर में भी वास्तु दोष है तो हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें इस्तेमाल करके आप अपने घर से वास्तु दोषों को खत्म कर सकते हैं.

नरक चतुदर्शी पर वास्तु दोष निवारण के उपाय

  • घर के मुख्य दरवाजे के दोनों तरफ अशोक के पेड़ लगाने से घर में सुख-शांति आती है. इसके अलावा ऐसा करने से वंश की वृद्धि होती है.
  • घर में गेंदे के फूल का पौधा या फिर तुलसी का पौधा लगाएं, ऐसा करने पर किसी भी तरह का वास्तुदोष उत्पन्न नहीं होगा.
  • घर के प्रवेश द्वार पर घोड़े की नाल (लोहे की) लगाने से भी वास्तु दोष दूर हो जाते हैं.
  • वास्तु दोष को दूर करने के लिए घर के मुख्य दरवाजे पर स्वास्तिक का चिन्ह जरूर लगाएं. यहीं से सबसे पहले नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती हैं.

  • नरक चतुर्दशी के दिन हनुमान जी की पूजा जरूर करनी चाहिए और साथ ही बाल हनुमान का चित्र अपनी दक्षिण की दीवार पर लगाएं. ऐसा करने से घर से सभी वास्तु दोष खत्म हो जाएंगे.
  • नरक चतुर्दशी के दिन शाम में सात दीपक जलाएं और इनमें से पहला मंदिर, दूसरा तुलसी, तीसरा पानी के मटके पर, चौथा और पांचवां मेन गेट रक, छठा मोरी के पास और सातवां दीपक पित्तरों की तस्वीर या दक्षिण दिशा में रखें. ये उपाय करने से घर से सभी वास्तु दोष खत्म हो जाएंगे.
  • यदि आपके बनते हुए काम बिगड़ जाते हैं तो इस दिन किसी किन्नर को हरी चूड़ियां और दक्षिणा अवश्य दें. इस दिन दान पुण्य करना बहुत ही शुभ माना जाता है.

Shukrawar Ke Totke: शुक्रवार को जरूर करें ये चमत्कारी टोटका, बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

Durga Ashtami 2019 Mahashtami Significance: जानें, नवरात्रि के अवसर पर अष्टमी का महत्व, पूजा समय

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App