नई दिल्ली. इस साल मोक्षदा एकादशी व्रत 8 दिसंबर 2019 को मनाया जाएगा. यह एकादशी व्रत मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष को आने वाली यह मोक्षदा एकादशी व्रत मनुष्य के जन्म और मृत्यु के बंधी हुई डोर से मुक्ति कराती है. अपने जीवन में जो मनुष्य कई तरह के पापों में भागीदार रहै है, जिसके कारण वह मरणोपरांत नर्क में अपने कर्मों का फल भुगत रहा होता है. नर्क की इस यातना से मुक्ति देने के लिए मोक्षदा एकादशी का व्रत रखना होता है. इस व्रत को धारण करने वाले मनुष्य पूरे जीवन सुख भोगता है. इस व्रत को करने से मनुष्य को अवश्य ही मोक्ष प्राप्त होता है. इसलिए इस व्रत को मोक्षदा एकादशी व्रत कहते हैं.

मोक्षदा एकादशी के दिन की पूजा विधि-
1.मोक्षदा एकादशी के दिन प्रात : काल उठकर स्नान करके भगवान श्रीकृष्ण को याद करें और इसके साथ ही पूरे घर में पवित्र जल का छिड़काव.
2.मोक्षदा एकादशी के दिन अपने आस-पास सफाई का खास ख्याल रखें.
3. इस दिन राधे कृष्णा का बाल गोपाल और शालिग्राम भगवान को गंगाजल, गुलाब और दूध-केसर से अभिषेक करें.
4. फिर भगवान को पुष्प चढ़ाए और घी का दीपक जलाएं और धूपबत्ती लगावें
5. इसके बाद श्री कृष्ण भगवान को मोरपंख धारण कराएं
6. मोक्षदा एकादशी के दिन केले का भोग लगाना ज्यादा लाभकारी होता है. इस दिन भगवान को माखन-मिश्रि और पंचामृत का भोग जरुर लगाएं.
7. इसके बाद निश्चिंत होकर आसन पर बैठ जाए और पूरे 18 अध्याय का पाठ करें.
8. मोक्षदा एकादशी के दिन पाठ होने के बाद भगवान से क्षमा की प्रर्थना करें और वहां रखे जल का फिर से पूरे घर में छिड़काव करें
9. इस दिन संभव हो तो गौ माता को घास और गुड़ खिलाए.

मोक्षदा एकादशी व्रत का शुभ मुहूर्त- 
मोक्षदा एकादशी व्रत शुभारंभ तिथि- 6 बजकर 34 मिनट 07 दिसंबर 2019
मोक्षदा एकादशी व्रत सामापन तिथि- 8 बजकर 29 मिनट 08 दिसंबर 2019

Also Read- Surya Grahan 2019 Benefits in Hindi: 26 दिसंबर को आखिरी सूर्य ग्रहण पर इन उपायों को करके ऐसे उठाएं लाभ

Horoscope Today Friday 22 November 2019 in Hindi: वृश्चिक राशि के कारोबारियों को होगा बंपर लाभ

Horoscope Today Thursday 21 November 2019 in Hindi: मिथुन राशि के लोगों को होगा बंपर धन लाभ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App