नई दिल्ली: अक्सर लोग आंख फड़कने को लेकर लेकर काफी बाते करते हैं. लोगों का मानना है कि आंख फड़कने का कोई न कोई अर्थ होता है. वहीं अंग ज्योतिष के हिसाब से भी शरीर के किसी भी अंग फड़कने का कोई अर्थ होता है. कहा जाता है कि अंग फड़कने से भविष्य में होने घटनाओं का भी ज्ञात हो जाता है. ऐसे ही हमारी आखों के फड़कने का अर्थ भी शुभ और अशुभ होता है. आज हम आपको बता रहे हैं कौन सी आंख फड़कने का अर्थ शुभ माना जाता है और कौनसी आंख का अर्थ अशुभ माना जाता है.

1. दाएं आंख का फड़कना: अगर किसी व्यक्ति की दाएं आंख फड़कती है तो लोग उसे शुभ कहते हैं. लेकिन हम अगर सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार भी इसका अर्थ माने तो पुरुषों की दाएं आंख का फड़कना शुभ माना जाता है. वहीं महिलाओं की बांए आंख का फड़कना शुभ होता है.

2. बाएं आंख का फड़कना: लोगों का बाएं का फड़कना गलत और अशुभ माना जाता है. हालांकि, अगर महिलाओं की बाएं आंख की पलक और भौंवें फड़कती हैं तो शुभ माना जाता है लेकिन पुरुषों के मामले में यह बिल्कुल उल्टा है. दरअसल, अगर पुरुषों की बाएं आंख फड़कती है तो उनकी अपने किसी पुराने शत्रु से लड़ाई हो सकती है या किसी व्यक्ति से दुश्मनी बढ़ सकती है.

3. दाएं आख की भौंहों और पलक का भड़कना: यह मानना है कि अगर पुरुषों की दाएं आंख की ऊपरी हिस्से की पलक या भौंवें फड़कती है तो ऐसे में उनके मन में पल रही सारी इच्छाएं पूरी हो जाती हैं. इसके साथ ही उन्हें धन का फायदा और लाभ होता है. लेकिन अगर महिलाओं की दाएं आंख की ऊपरी हिस्से की पलक और भौंवे फड़कती हैं तो यह काफी अशुभ होता है और उनके बने हुए काम बिगड़ने लगते हैं.

गुरु मंत्र: कुडंली के अनुसार कौन सा रत्न है आपके लिए लाभदायक और कौन सा नुकसान दायक है?

वृषभ राशिफल 2018: वृषभ राशि वालों के लिए बेहद शुभ रहेगा नया साल, बस रखें इन बातों का ध्यान