नई दिल्ली. ग्रहों में राशि परिवर्तन का व्यक्ति के जीवन पर गहरा असर पड़ता है. ऐसे में 4 मई से ग्रहों का सेनापति मंगल अपनी वर्तमान राशि मकर छोड़कर अपनी शत्रु राशि कुंभ में प्रवेश करेगा. मंगल का कुंभ राशि में परिवर्तन 44 दिनों तक रहेगा. और इसकी वजह से खाद्य पदार्थों में कमी के चलते खुदरा मंहगाई बढ़ने की भी संभावना है. साथ ही इसके असर से देश के कई हिस्सों में आंधी, तूफान और आगजनी आदि प्राकृतिक आपदाएं सामने आ सकती हैं.

जानकारी के अनुसार, चार मई सोमवार वैशाख शुक्ल पक्ष द्वादशी तिथि को शाम चार बजकर 10 मिनट पर मंगल का गोचरीय परिवर्तन संभव है. इस दौरान मंगल ग्रह अपनी उच्च राशि मकर छोड़ देगा और शनि की तीसरी राशि कुंभ में प्रवेश करेंगे. साथ ही स्वगृही शनि, नीच के गुरु से मंगल अलग हो जाएंगे. इस परिवर्तन का एक व्यापक असर भी देखने को मिल सकता है.

दरअसल, पुलिस बल, मंगल सेना, रक्षा, संयत्र, आग, भूमि भवन और वाहन कारक ग्रह है. इसलिए इनके परिवर्तन के बाद इन क्षेत्रों में भी काफी प्रभाव देखने को मिलेगा. गोचर के समय सेना, पुलिस का पराक्रम और शौर्य देश हित में देखा जा सकेगा. साथ ही ये पूर्व मनोयोग से सभी बल कार्यों को करेंगे. हालांकि, इन लोगों को सतर्क रहने की भी जरूरत है. साथ ही मंगल के गोचर का असर और भी क्षेत्रों में पड़ेगा और सभी लग्नों व राशियों पर भी इसका प्रभाव होगा.

May Monthly Horoscope 2020: जानिए कैसा रहेगा मई महीना, किस राशि को मिलेगा बंपर लाभ और किसे होगा नुकसान

Jai Madaan Tips to Get Rid Of Negative Energy: जीवन में हावी नकारात्मक शक्ति को दूर भगाएंगे ये उपाय, सुख-शांति में होगी बढ़ोतरी